अंतर्राष्ट्रीय कॉफी संगठन चाहता है कि चीन उस का एक सदस्य बने

2018-02-27 16:35:03

इधर के वर्षों में वैश्विक निर्यातकों और निर्माताओं ने चीन में कॉफी के उत्पादन और उपभोग की वृद्धि पर लगातार बड़ा ध्यान दिया। चीन में कॉफी बाज़ार के लगातार बढ़ने पर विचार करते हुए अंतर्राष्ट्रीय कॉफी संगठन के कार्यकारी निदेशक जोस सैटे ने हाल ही में चीन को इस संगठन में शामिल होने की आशा प्रकट की।

29 जनवरी को पहला फू एर अंतर्राष्ट्रीय बुटीक कॉफी मेला चीन के युन्नान प्रांत के फू एर में आयोजित हुआ। चीन, ब्राज़ील, कोलंबिया, इथियोपिया, अमेरिका, जापान, ऑस्ट्रेलिया, जर्मनी और ब्रिटेन समेत कई देशों के प्रतिष्ठित संस्थाओं और उद्योग के नेताओं ने इसके कई विशेष मंच में भाग लिया। जोस सैटे ने मेले में भाषण देते हुए भविष्य में कॉफी उपभोक्ता और निर्माता देश के रूप में चीन की निहित शक्ति, सदस्य के रूप में चीन को अंतर्राष्ट्रीय कॉफी संगठन में शामिल होने के महत्व पर ज़ोर दिया।

जोस सैटे ने कहा कि पिछले 20 वर्षों में चीन में कॉफी की खपत की समग्र वार्षिक वृद्धि दर 14.7 प्रतिशत रही, वर्ष 2016 कॉफी की खपत 25 लाख बैग तक पहुंची। बाज़ार का आकार भी लगातार बढ़ता जा रहा है। वर्ष 2002 बाज़ार का आकार 30 करोड़ अमेरिकी डॉलर है, इस से लगातार बढ़कर पिछले वर्ष एक अबर 20 करोड़ अमेरिकी डॉलर तक पहुंचा।

अंतर्राष्ट्रीय कॉफी संगठन के आंकड़ों के अनुसार पिछले 10 वर्षों में एशिया में कॉफी बाज़ार की वृद्धि विश्व में सबसे तेज़ है, जिनमें इंडोनेशिया और चीन के बाजारों में सबसे चमकदार प्रदर्शन दिखा है। सीआरआई के संवाददाता के साथ इंटरव्यू में जोस सैटे ने कहा कि युन्नान के कॉफी बीन्स ने उनपर गहरी छाप छोड़ी है। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय कॉफी संगठन में भाग लेने के लिए चीन का स्वागत किया।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी