चीन और पूर्व आसियान के विकास क्षेत्र के बीच सहयोग का व्यापक भविष्य है

2018-06-04 09:18:01

वर्ष 2005 चीन औपचारिक रूप से पूर्व आसियान के विकास क्षेत्र का विकास साझेदार बना था। इसके बाद चीन ने इस संगठन के साथ बेहतर संबंध बनाए रखा है। अंदरूनी सूत्रों ने बताया कि चीन और पूर्व आसियान के विकास क्षेत्र के बीच सहयोग का व्यापक भविष्य है, दोनों पक्षों के बीच सद्भाव संपर्क से चीन और पूरे आसियान के बीच सहयोग के अनुकूल हैं और चीन द्वारा प्रस्तुत एक पट्टी एक मार्ग प्रस्ताव की संभावना का विस्तार किया जाएगा।

पूर्व आसियान का विकास क्षेत्र वर्ष 1994 स्थापित हुआ था, जो आसियान में तीन उप-क्षेत्रीय सहयोग संगठनों में से एक है, जिसके दायरे में मलेशिया, इंडोनेशिया, फिलीपींस तीन देशों के कुछ क्षेत्र शामिल हैं। इस संगठन की स्थापना का लक्ष्य है आपसी आर्थिक संपूरकता, संसाधनों और बाज़ारों को साझा करने से अविकसित क्षेत्रों और भौगोलिक दृष्टि से निर्धन क्षेत्रों के विकास को आगे बढ़ाना।

वर्ष 2005 के दिसंबर में चीन औपचारिक रूप से पूर्व आसियान के विकास क्षेत्र का विकास साझेदार बना था। आर्थिक, व्यापारिक और सांस्कृतिक क्षेत्रों में दोनों पक्षों के बीच सहयोग लगातार गहराता जा रहा है। चीनी सामाजिक विज्ञान अकादमी के एशिया-प्रशांत और वैश्विक रणनीति अनुसंधान संस्थान के सदस्य श्यु ली फिंग की नज़र में चीन और पूर्व आसियान के विकास क्षेत्र के बीच सहयोग चीन और आसियान के बीच सहयोग का एक महत्वपूर्ण हिस्सा भी है।

उन्होंने कहा कि चीन और पूर्व आसियान के विकास क्षेत्र के बीच उप-क्षेत्रीय सहयोग से चीन और आसियान के बीच सहयोग भी गहरा सकता है, जिससे चीन और आसियान के बीच सहयोग और अच्छी तरह गुणवत्ता को उन्नत करने और दक्षता बढ़ाने के नये चरण में प्रवेश हो सकता है। चीन और आसियान के बीच कई सहयोग में अधिकांश चीन द्वारा प्रस्तुत प्रस्ताव हैं। लेकिन पूर्व आसियान का विकास क्षेत्र आसियान द्वारा प्रस्तुत किया गया है। चीन जिसका एक हिस्सेदार है। जिससे यह भी जाहिर होता है कि एक जिम्मेदार बड़े देश के रूप में चीन अपने पड़ोसी देशों के बीच आपसी राजनीतिक विश्वास को आगे बढ़ा रहा है।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी