अफ्रीका में विदेशी मुद्रा भंडार में आरएमबी का अनुपात बढ़ेगा

2018-07-02 14:05:00

आरएमबी के अंतर्राष्ट्रीयकरण की प्रक्रिया तेज़ होने के साथ अधिक से अधिक देशों ने विदेशी मुद्रा के भंडारण मुद्रा के रूप में आरएमबी को सूचीबद्ध किया है। हाल ही में पूर्व और दक्षिण अफ्रीका के 14 देशों के केंद्रीय बैंकों के उपाध्यक्ष और वित्तीय अधिकारियों ने इस पर विचार-विमर्श किया कि आरएमबी भंडारण मुद्रा के रूप में सूचीबद्ध किये जाने के बाद कैसे इसका उपयोग किया जाएगा। उन्होंने आरएमबी के भंडारण का अनुपात अधिक होने, अंतरराष्ट्रीय निपटान में अधिक आरएमबी का प्रयोग करने का सारांश पेश किया।

पूर्वी और दक्षिणी अफ्रीका के व्यापक आर्थिक और वित्तीय प्रबंधन संस्थान यानी एमईएफएमआई एक क्षेत्रीय अनुसंधान संस्थान है, जिसका मुख्यालय जिम्बाब्वे की राजधानी हरारे में स्थित है। इस संस्थान द्वारा आयोजित होने वाली एक संगोष्ठी में पूर्व और दक्षिण अफ्रीका के 14 देशों के केंद्रीय बैंक के उपाध्यक्ष और वित्तीय अधिकारियों ने विदेशी मुद्रा भंडार में आरएमबी का अनुपात बढ़ने जैसे मुद्दों पर विचार-विमर्श किया। इस संस्थान के कार्यकारी निदेशक कालेब फंडंगा ने संगोष्ठी में विभिन्न पक्षों द्वारा संपन्न सहमति बताई कि हमें अधिक आरएमबी का उपयोग करना चाहिए और ऐसा करने का समय परिपक्व है।

संगोष्ठी में विभिन्न पक्षों ने इस पर विचार-विमर्श किया कि आरएमबी भंडारण मुद्रा के रूप में सूचीबद्ध किये जाने के बाद कैसे इसका उपयोग किया जाएगा। कालेब फंडंगा ने उपस्थितों का विचार बताया कि चीन और अफ्रीका के बीच आर्थिक और व्यापारिक आवाजाही लगातार गहराने की स्थिति के अनुरूप के साथ अफ्रीकी देशों को अंतर्राष्ट्रीय निपटारे में आरएमबी का अधिक उपयोग करना चाहिए।

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी