अफगानिस्तान में शांति व्यवस्था नहीं

2016-09-22 15:41:45

21 सितंबर को अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस है। अफगान नागरिक भी शांति चाहते हैं, लेकिन वहां शांति व्यवस्था कायम नहीं हो पा रही है। 

इस अवसर पर अफगान नागरिकों ने अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस के लिए सभा का आयोजन किया और मस्जिद में नमाज अदा की। उन्होंने आतंकियों से हथियार डालने और देश के पुनर्निर्माण-कार्य में भाग लेने की अपील की। अफगान उच्च शांति समिति ने कहा कि अफगानिस्तान पर युद्ध थोपा गया। इस समिति ने सरकार विरोधी संगठनों और अफगान सरकार के बीच बातचीत की अपील की। ताकि शांतिपूर्ण तरीके से संकट हल हो सके। 

लेकिन अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी और अफगानिस्तान के “सीईओ” अब्दुल्ला अब्दुल्ला के बीच संबंध अच्छे नहीं है। यह सरकार और सेना के विभिन्न विभागों के बीच सहयोगों व समन्वय के लिए लाभदायक नहीं है। इस स्थिति में तालिबान और आईएस समेत आतंकी संगठन अपना विस्तार कर रहे हैं।  

उधर अफगानिस्तान के तीसरा सबसे बड़ा स्शस्त्र संगठन अफगान इस्लामी पार्टी और सरकार के बीच शांति समझौते पर हस्ताक्षर होने हैं। समझौते के अनुसार यह संगठन एक राजनीतिक दल के रूप में पंजीकृत करेगा।  




कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी