अफगान सरकार और विद्रोहियों के बीच शांति मसौदे पर हस्ताक्षर

2016-09-23 11:11:29

अफगान उच्च शांति समिति ने 22 सितंबर को काबुल में अफगानिस्तान के तीसरे सबसे बड़े सशस्त्र संगठन इस्लामिक पार्टी के साथ शांति समझौते के मसौदे पर हस्ताक्षर किए। अफगानिस्तान की शांति प्रक्रिया में यह एक अहम कदम माना जा रहा है। 

साल 2001 में तालिबान के खात्मे के बाद अफगान सरकार और विद्रोहियों के बीच हस्ताक्षरित पहला शांति समझौते का मसौदा है। अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी और इस्लामिक पार्टी के नेता गुलाबुद्दीन हेकमत्यार के हस्ताक्षर के बाद समझौता प्रभावी होगा। 

उसी दिन अफगान राष्ट्रपति के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार हनीफ़ अत्मर ने दोनों पक्षों से समझौते के मसौदे पर जल्द से जल्द अमल करने की आशा जताई। 

इस्लामिक पार्टी के प्रतिनिधि मंडल के निदेशक अमीन करीम ने कहा कि इस मसौदे पर हस्ताक्षर करना देश में शांति स्थापना की दिशा में पहला कदम है। उन्होंने अन्य विद्रोहियों से हथियार डालने और सरकार के साथ पुनर्निर्माण-कार्य में भाग लेने की अपील की।लेकिन करीम ने यह भी कहा कि अफगानिस्तान में विदेशी सेना की मौजूदगी तक इस्लामिक पार्टी युद्ध जारी रखेगी।


कैलेंडर

न्यूज़:
व्यापार पर्यटन फ़ैशन खेल एक्सपर्ट राय
व्यापार:
ख़बर व्यक्ति चीन का मार्किट चीन में निवेश
पर्यटन:
चीन की सैर पर्यटन जानकारी लोकप्रिय फोटो भारत दर्पण बलॉग चीनी भाषा सीखें
बाल-महिला स्पेशल
विश्व का आईना
चीनी भाषा सीखें:
वीडियो वीडियो
फोटो गैलरी:
चीन भारत दुनिया पर्यटन फ़ैशन शो