रूस को सीरिया के भीतर हुए हमले का जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए : अमेरिका

2016-09-23 15:28:10

अमेरिकी जॉइन्ट चीफ़्स ऑफ़ स्टाफ़ के अध्यक्ष जोसेफ़ एफ़ दुन्फ़ोर्ड ने 22 सितंबर को कहा कि 19 सितंबर को सीरिया के भीतर एक मानवीय राहत काफ़िले पर हुआ हमला एक अस्वीकार्य हिंसक कार्रवाई है। कोई दो राय नहीं कि इसके लिए रूस को जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए।

 दुन्फ़ोर्ड ने अमेरिकी सीनेट की सैन्य कमेटी में गवाही देते हुए कहा कि 19 सितंबर को हुए हमले के दौरान घटनास्थल के नजदीक ही आकाश में दो रूसी लड़ाकू विमान उड़ रहे थे। उनके विचार में रूस को इस मामले का जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए। लेकिन यह साफ़ नहीं है कि क्या किसी रूसी विमान ने बम बरसाया था या नहीं।

बता दें कि सीरियाई क्रीसेंट, रेड क्रॉस सोसाइटी की अंतरराष्ट्रीय समिति, रेड क्रॉस और रेड क्रीसेंट के अंतरराष्ट्रीय गठबंधन ने 20 सितंबर को संयुक्त वक्तव्य जारी कर कहा कि 19 सितंबर को मानवीय राहत सामग्रियों से लैस कई ट्रकों का एक काफिला हमले का शिकार बना, जिससे रेड क्रीसेंट के कर्मचारी और 20 आम नागरिकों की मौत हुई।

वहीं रूसी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता इगोर कोनाशेंकोव ने 20 सितंबर को कहा कि सीरिया के भीतर मानवीय राहत काफिले पर हुए हमले के घटनास्थल पर किसी भी तरह के हवाई हमले का नामो-निशान नहीं था। जाहिर है कि यह मामला सीरियाई और रूसी वायु सेना से कोई लेना-देना नहीं है। सीरियाई सेना ने उसी दिन काफिले पर हवाई हमला करने से भी इनकार किया।

(श्याओ थांग) 

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी