आप्रवासन प्रतिबंध आदेश हटाए अमेरिका- संयुक्त राष्ट्र

2017-02-02 17:27:09

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने 1 फरवरी को कहा कि आतंकवाद का प्रसार रोकने के लिए अमेरिका की नई आप्रवासन प्रतिबंध नीति सबसे अच्छा समाधान नहीं है। अमेरिका को आप्रवासन प्रतिबंध आदेश जल्द ही हटाना चाहिए।

न्यूयार्क में आयोजित नियमित न्यूज़ ब्रीफ़िंग में गुटेरेस ने उक्त बात कही। उन्होंने माना कि व्यापक स्थिति में शरणार्थियों का पुनर्वास करना उनकी सुरक्षा के लिए एकमात्र समाधान है। इसलिए गुटेरेस ने अमेरिका से शरणार्थियों के पुनर्वास से संबंधित मामलों पर पूर्व सुरक्षित कदम उठाने और विशेषकर सीरियाई शरणार्थियों को बाहर न भेजने की उम्मीद जताई। 

गुटेरेस ने यह भी कहा कि वह सही समय पर वाशिंगटन जाकर डोनाल्ड ट्रम्प से मुलाकात करेंगे। लेकिन निश्चित समय तय नहीं किया गया है।

उधर 1 फ़रवरी को संयुक्त राष्ट्र के आप्रवासन, आतंक विरोध, यातना और धार्मिक स्वतंत्रता जैसे मानवाधिकार मामले से जुड़े विशेष दूतों ने एक संयुक्त बयान जारी कर अमेरिका की नई आप्रवासन प्रतिबंध नीति की आलोचना की।

उन्होंने माना कि यह आदेश जाति, राष्ट्रीयता और धार्मिक भेदभाव का संदेह है। यह अमेरिका द्वारा लिये गये अंतर्राष्ट्रीय दायित्वों का उल्लंघन है और यह अंतर्राष्ट्रीय मानवतावाद और संबंधित कानून का उल्लंघन भी है।

बयान में कहा गया है कि अमेरिका ने इराक और सीरिया मुठभेड़ में सीधे तौर पर भाग लिया। इस स्थिति में अमेरिका को इस मुठभेड़ के चलते पैदा हुए शरणार्थियों की जिम्मेदारी लेनी चाहिए। और युद्ध से बचने वाले लोगों को मदद देनी चाहिए।

गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने 27 जनवरी को एक कार्यकारी आदेश दिया। जिसके अनुसार अगले 120 दिनों तक शरणार्थियों को अमेरिका में प्रवेश की इजाजत नहीं होगी। अगले 90 दिनों तक अमेरिका ईरान, सूडान, सीरिया, लीबिया, सोमालिया, यमन और इराक जैसे 7 देशों के नागरिकों के अमेरिका में प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया गया है। इसके अलावा अमेरिका असीमित अवधि में सीरिया के शरणार्थियों को भी अमेरिका आने से रोकेगा।

(देव) 

कैलेंडर

न्यूज़:
व्यापार पर्यटन फ़ैशन खेल एक्सपर्ट राय
व्यापार:
ख़बर व्यक्ति चीन का मार्किट चीन में निवेश
पर्यटन:
चीन की सैर पर्यटन जानकारी लोकप्रिय फोटो भारत दर्पण बलॉग चीनी भाषा सीखें
बाल-महिला स्पेशल
विश्व का आईना
चीनी भाषा सीखें:
वीडियो वीडियो
फोटो गैलरी:
चीन भारत दुनिया पर्यटन फ़ैशन शो