यूएन की अपील, बाल-बच्चों की अधिक सुरक्षा करें

2017-02-09 15:10:25

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने 8 फरवरी को अपने भाषण-पत्र में कहा कि लगातार युद्धरत क्षेत्र में बाल-बच्चों को गंभीर खतरों का सामना करना पड़ता है। उन्होंने मुठभेड़ की रोकथाम और विकास जैसे तरीके से बच्चों की रक्षा करने की अपील की।

71वीं संयुक्त राष्ट्र महासभा ने उसी दिन सम्मेलन आयोजित कर बाल-बच्चों और सशस्त्र मुठभेड़ से जुड़े संयुक्त राष्ट्र महासभा के प्रस्ताव के पारित होने की 20वीं वर्षगांठ की स्मृति मनायी। यूएन महासचिव कार्यालय की प्रधान मारिया लुइज़ा रिबैरो विओट्टी ने गुटेरेस का भाषण-पत्र पढ़ा।

अपने भाषण-पत्र में गुटेरेस ने कहा कि 20 साल पूर्व संयुक्त राष्ट्र महासभा ने महासचिव से बाल और सशस्त्र मुठभेड़ मुद्दे के विशेष प्रतिनिधि स्थापित करने का सुझाव पेश किया था। 20 सालों में विभिन्न पक्ष बाल-बच्चों को पहुंची क्षति को दूर करने के लिए प्रयासरत हैं। एक लाख से अधिक बाल सैनिकों को सेना और सशस्त्र समुदाय से रिहा किये गये और समाज में उनकी वापसी का समर्थन मिला है।

भाषण पत्र में कहा गया कि संघर्ष जारी रखना और उसकी बढ़ोतरी बच्चों के लिए गंभीर खतरा है। बाल-बच्चों की रक्षा करने का सबसे अच्छा उपाय मुठभेड़ की रोकथाम करना है। गुटेरेस ने गुटेरेस ने बल देते हुए कहा कि शिक्षा और युवाओं के रोज़गार की मज़बूती से शांति और विकास का संवर्द्धन किया जाए, इसके साथ ही स्थानीय संस्थाओं और गैर-सरकारी समुदायों के साथ सहयोग कर बच्चों की रक्षा की जाए।

जानकारी के मुताबिक दिसम्बर 1996 में संयुक्त राष्ट्र महासभा ने नम्बर 51/77 प्रस्ताव पारित कर सशस्त्र मुठभेड़ से प्रभावित बाल-बच्चों की रक्षा करने की अपील की और संयुक्त राष्ट्र सहासचिव से इस मुद्दे पर विशेष प्रतिनिधि स्थापित करने का सुझाव पेश किया था।

(श्याओ थांग)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी