चीनी गेसार किशोर गायक-मंडली औपचारिक तौर पर स्थापित

2017-05-22 15:44:14

चीन के छिंगहाई प्रांत के गोलोक तिब्बती स्वायत्त प्रिफेक्चर में 22 मई को चीनी किशोर गेसार गायक-मंडली की औपचारिक स्थापना हुई । प्रिफेक्चर के संस्कृति विभाग के प्रधान के अनुसार मंडल की स्थापना से वहां के छोटे गायकों के लिए गेसार संस्कृति सीखने का मंच तैयार हो जाएगा ।

गेसार चीन की तिब्बत जाति के इतिहास में राजा गेसार की कहानियों का वर्णन करने का महाकाव्य है । महाकाव्य कुल दो करोड़ शब्दों से गठित है जो विश्व के महाकाव्यों में सबसे अधिक है । वर्ष 2006 में चीन सरकार ने इसे गैर-भौतिक राष्ट्रीय विरासत की प्रथम नामसूची में शामिल करवाया और वर्ष 2009 में गेसार महाकाव्य को संयुक्त राष्ट्र यूनेस्को की मानव गैर-भौतिक सांस्कृतिक विरासत की नामसूची में भी करवाया गया ।

चीनी गेसार किशोर गायक-मंडली में 37 तिब्बती बच्चें और बच्चियां शामिल हैं । उनकी उम्र 8 से 13 वर्ष की हैं । छिंगहाई प्रांत के गोलोक प्रिफेक्चर को गेसार संस्कृति का प्रमुख उद्गम स्थल माना जाता है ।

( हूमिन )

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी