चीन की एन.पी.सी. के तिब्बत प्रतिनिधि मंडल की जापान यात्रा

2017-06-10 16:28:56

6 से 10 जून तक चीनी राष्ट्रीय जन प्रतिनिधि सभा के तिब्बत स्वायत प्रदेश की कमेटी के सदस्य, चीनी राष्ट्रीय जन प्रतिनिधि सभा की नींगत्छ कमेटी के अध्यक्ष दोरजी त्सारिंग के नेतृत्व वाले एन.पी.सी. के तिब्बत प्रतिनिधि मंडल ने जापान की मित्रवत यात्रा की। यात्रा के दौरान दोरजी त्सारिंग ने टोक्यो में जापान सीनेट के पूर्व अध्यक्ष, जापान-चीन मित्रता संघ के अध्यक्ष  एडा सत्सुकी के साथ मुलाकात की।

दोरजी त्सारिंग ने कहा कि चीन का हमेशा से यही विचार रहा है कि चीन और जापान के बीच चार राजनीतिक दस्तावेजों और चार सूत्रीय सिद्धांत सहमतियों के आधार पर इतिहास को देखकर भविष्य में द्विपक्षीय संबंधों का विकास किया जा रहा है। तिब्बत मामला चीन की प्रभुसत्ता और प्रादेशिक अखंडता के साथ चीन के केंद्रीय हितों और राष्ट्रीय भावना से संबंधित भी है। उन्हें आशा है कि जापान दलाई लामा गुट के चीन के विरोध और अलगाववाद के स्वरूप को पूरी तरह स्पष्ट करके तिब्बत से संबंधित मामले पर चीन के केंद्रीय हित और महत्वपूर्ण चिंता का सम्मान करेगा, द्विपक्षीय संबंधों की स्थिति से तिब्बत से संबंधित मामलों का समुचित रूप से समाधान करेगा। उन्होंने यह भी कहा कि वर्तमान में तिब्बत के विभिन्न कार्यों में बड़ी उपलब्धियां हासिल हुई हैं, विभिन्न जातियों के लोग सुखमय जीवन बिताने लगे हैं। तिब्बत के लोग चीन के बाकी लोगों की तरह एक खुशहाल समाज का निर्माण करने के लिए पूरी कोशिश कर रहे हैं।

एडा सत्सुकी ने कहा कि जापान और चीन दोनों देशों और दोनों देशों की जनता के बीच मित्रवत संबंध बनाए रखना महत्वपूर्ण है। जापानी कांग्रेस और चीनी राष्ट्रीय जन प्रतिनिधि सभा के बीच नियमित रूप से मेलजोल की व्यवस्था स्थापित हुई है। दोनों पक्षों के बीच आवाजाही घनिष्ठ है। जापान और चीन के बीच सात समूहों में से एक के रूप में जापान-चीन मित्रता संघ नियमित रूप से चीन के विभिन्न जगतों के युवकों को जापान की यात्रा के लिए आमंत्रण देता है, जिससे दोनों देशों की जनता के बीच समझ और मित्रता को आगे बढ़ाया जाएगा।

(वनिता)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी