शी चिनफिंग की यात्रा से एक पट्टी एक मार्ग के निर्माण में तेज़ी होगी :वांग यी

2017-06-11 15:57:55

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने 7 से 10 जून तक कजाखस्तान की यात्रा की और वहां आयोजित शांघाई सहयोग संगठन की 17वीं शिखर परिषद मीटिंग में भाग लिया । चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने कहा कि शी चिनफिंग ने अपनी 60 घंटों की यात्रा में बीसेक राजनयिक गतिविधियों में भाग लिया । उनकी यात्रा से एक पट्टी एक मार्ग के निर्माण में नयी शक्ति डाली गयी है ।

वांग यी ने कहा कि चीन और कजाखस्तान के बीच राजनीतिक विश्वास बहुत आगे बढ़ाया गया है । दोनों देशों के राष्ट्रपतियों ने चीन और कजाखस्तान के बीच पूर्ण रणनीतिक साझेदार संबंध कायम करने पर सहमति संपन्न की और चीन-कजाखस्तान संयुक्त घोषणा-पत्र पर हस्ताक्षर किये । चीन और कजाखस्तान हमेशा अच्छे पड़ोसी, अच्छे मित्र और अच्छे सहपाठी बने रहेंगे ।

शांघाई सहयोग संगठन की स्थापना को 16 साल हो चुके हैं । अब वह सदस्य देशों के बीच पारस्परिक विश्वास को बढ़ाने, सहयोग करने और क्षेत्रीय सुरक्षा की रक्षा करने के लिए एक महत्वपूर्ण मंच बन गया है । शी चिनफिंग ने दूसरे सदस्य देशों के नेताओं के साथ संबंधित अंतर्राष्ट्रीय व क्षेत्रीय सवालों पर गहन रूप से विचारों का आदान प्रदान किया । इस शिखर सम्मेलन में भारत और पाकिस्तान भी शांघाई सहयोग संगठन के सदस्य बने हैं जिससे इस संगठन का अंतर्राष्ट्रीय प्रभाव और बढ़ेगा । चीन अगले साल के जून में शांघाई सहयोग संगठन का शिखर सम्मेलन आयोजित करेगा । शी चिनफिंग ने शांघाई सहयोग संगठन के राजनीतिक, सुरक्षात्मक, आर्थिक और सांस्कृतिक सहयोग में अनेक प्रस्ताव पेश किये ।

शिखर सम्मेलन के दौरान शी चिनफिंग ने रूस के राष्ट्रपति पुतिन और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आदि नेताओं के साथ वार्तालाप की और द्विपक्षीय संबंधों पर सहमति संपन्न की ।

शी चिनफिंग की यात्रा के दौरान चीन और कजाखस्तान के बीच संयुक्त घोषणा तथा शांघाई सहयोग संगठन का अस्ताना घोषणापत्र आदि दस्तावेज प्रकाशित की गयी हैं जिनसे एक पट्टी एक मार्ग के निर्माण में नयी शक्ति मिल सकी है । अनेक देशों के नेताओं ने एक पट्टी एक मार्ग का समर्थन प्रकट किया ।

( हूमिन )

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी