चीन और पनामा के बीच राजनयिक संबंध स्थापित करना आम रुझान

2017-06-13 16:02:50

पनामा के राष्ट्रपति जुआन कार्लोस वारेला (Juan Carlos Varela) ने 12 जून को राष्ट्रीय टीवी पर भाषण देते हुए घोषणा की कि पनामा ने चीन के साथ राजनयिक संबंधों की स्थापना की है।

उन्होंने कहा कि आज पनामा और चीन के बीच राजनयिक संबंध की स्थापना हुई, मुझे पक्का विश्वास है कि यह हमारे देश के सामने सही रास्ता है।

वारेला के अनुसार उप राष्ट्रपति और विदेश मंत्री इसाबेल डी सैंट मालो डी अल्वारैडो पेइचिंग में चीनी विदेश मंत्री वांग यी के साथ वार्ता कर रही हैं। इसके साथ ही उन्होंने मंत्रिमंडल और संबंधित कार्य दल को चीन के साथ पर्यटन, व्यापार, इमेग्रिशन, कृषि, सौदा और समुद्री मामला जैसे मुद्दों पर विचार विमर्श करने का आदेश दिया, ताकि संबंधित समझौता संपन्न हो सके।

वारेला ने कहा कि चीन विश्व में महत्वपूर्ण पात्र बनकर उभर रहा है। भूमंडलीकरण और वैश्विक विकास को साकार करने के क्षेत्र में पनामा और चीन के पास समान उत्तरदायित्व है। पनामा की अर्थतंत्र में चीन अहम भूमिका निभा रहा है। चीन पनामा नहर का दूसरा बड़ा प्रयोगकर्ता है।  

चीनी राज्य परिषद के थाईवान मामला कार्यालय के प्रवक्ता मा श्याओक्वांग ने 13 जून को कहा कि विदेश मंत्रालय ने इसके संदर्भ में रुख जताया है। विश्व में केवल एक चीन है। एक चीन के सिद्धांत पर कायम रहना अंतरराष्ट्रीय समुदाय की आम सहमति है। चीन और पनामा के बीच राजनयिक संबंध की स्थापना लोगों के मन की इच्छानुसार आम रूझान है। 

(श्याओ थांग)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी