भारतीय युवाओं ने सुन यात-सेन विश्वविद्यालय का दौरा किया

2017-06-16 16:58:02

भारतीय युवाओं ने सुन यात-सेन विश्वविद्यालय का दौरा किया

भारतीय युवा प्रतिनिधिमंडल ने 16 जून को क्वांगचो में सुन यात-सेन विश्वविद्यालय का दौरा किया और स्थानीय शिक्षक और विद्यार्थियों के साथ विचार विमर्श किया।

सुन यात-सेन विश्वविद्यालय के यूथ लीग के उप प्रमुख श्याओ ली ने भारतीय युवाओं को विश्वविद्यालय के इतिहास से अवगत कराया और कहा कि चीन और भारत विश्व में सुप्रसिद्ध प्राचीन सभ्यता वाले देश हैं। खुलेपन की राह पर चलने वाला सुन यात-सेन विश्वविद्यालय श्रेष्ठ भारतीय युवाओं का हार्दिक स्वागत करता है।

भारतीय युवाओं ने सुन यात-सेन विश्वविद्यालय का दौरा किया

दोनों पक्षों के मिलन में भारतीय युवा प्रतिनिधिमंडल ने चीन-भारत संबंध को लेकर व्याख्या की। उन्होंने कहा कि बिते 10 सालों में चीन और भारत के बीच व्यापारिक सहयोग का तेज़ विकास हुआ। साल 2008 में चीन अमेरिका को पीछे छोड़कर भारत का सबसे बड़ा व्यापारिक साझेदार बन गया है। दोनों देशों के बीच व्यापारिक भविष्य बहुत विशाल है।  

भारतीय युवाओं और चीनी विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों ने“मीडिया जगत में आपसी संपर्क और युवाओं का आपसी विश्वास”,“आपसी संबंध, आपसी संपर्क और सहयोग विकास”तथा“गलतफहमी को दूर कर आपसी विश्वास की स्थापना”जैसे विषयों पर विचार विमर्श किया।

जानकारी के अनुसार सुन यात-सेन विश्वविद्यालय की स्थापना वर्ष 1924 में हुई, जो महान व्यक्ति सुन यात-सेन ने खुद स्थापित किया था।

(श्याओ थांग)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी