शी चिनफिंग की आने वाली यूरोप-यात्रा का बड़ा महत्व

2017-06-29 17:35:04

3 जुलाई को चीनी राष्ट्राध्यक्ष शी चिनफिंग रूस और जर्मनी की राजकीय यात्रा करेंगे और जर्मनी के हैम्बर्ग में आयोजित जी-20 शिखर बैठक में भाग लेंगे। चीनी विदेश मंत्रालय और वाणिज्य मंत्रालय के जिम्मेदार व्यक्तियों ने 29 जून को हुई प्रेस वार्ता में कहा कि शी चिनफिंग की यात्रा का बड़ा महत्व है, जो चीन रूस सर्वांगीण रणनीतिक साझेदारी के विकास में नया अध्याय जोड़ेगा, चीन-जर्मनी संबंधों के भावी विकास का नया लक्ष्य स्पष्ट करेगा और जी-20 ग्रुप को विश्व अर्थव्यवस्था की मज़बूत, निरंतर, संतुलित और समावेशी वृद्धि को बढ़ाएगा।


चीनी सहायक विदेश मंत्री ली हुइ लाइ ने बताया कि रूस की यात्रा के दौरान दोनों देशों के राज्याध्यक्ष द्विपक्षीय संबंधों का भावी ब्लूब्रिंट खींचेंगे और दोनों पक्ष दस से अधिक सहयोगी समझौतों पर हस्ताक्षर करेंगे।

चीनी उप वाणिज्य मंत्री वांग शोवन ने बताया कि बेहतर राजनीतिक संबंध चीन-रूस आर्थिक और व्यापारिक संबंधों को प्रेरणा देगा। इस साल के पहले 5 महीनों में चीन रूस व्यापार 26 प्रतिशत बढ़ा है। रूस अब चीन के तेल निर्यात का सबसे बड़ा स्रोत देश बन चुका है।


कई वर्षो में जर्मनी यूरोप में चीन का सबसे महत्वपूर्ण व्यापार, पूंजी निवेश और तकनीकी सहयोग साझेदार हैं। शी चिनफिंग की जर्मनी यात्रा की चर्चा में चीनी उप विदेश मंत्री वांग छाओ ने बताया कि यह यात्रा दोनों देशों के संबंधों के भावी विकास के लक्ष्य तय करेगी। जर्मन नेताओं से मिलने के अलावा शी चिनफिंग बर्लिन चिड़ियाघर का नया बड़ा पांडा भवन खुलने के समारोह में भाग लेंगे।


जी - 20 शिखऱ बैठक के बारे में चीनी उप विदेश मंत्री ली पाओ तुंग ने बताया कि चीन की आशा है कि हैम्बर्ग शिखर बैठक पिछले साल हांगचो शिखर बैठक में ढांचागत सुधार और डिजिटल अर्थव्यवस्था में प्राप्त उलब्धियां अमल में लाएगी, खुली विश्व अर्थव्यवस्था का निर्माण करेगी, मिलकर सृजन बढ़ाएगी और जी-20 ग्रुप के सदस्य देशों की एकता और सहयोग का सकारात्मक संकेत देगी। इसके अलावा जी-20 शिखर बैठक से पहले चालू साल ब्रिक्स अध्यक्ष देश के नाते चीन ब्रिक्स देशों की शिखर बैठक भी आयोजित करेगा। (वेइतुङ)      

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी