चीनी सेना ने तूंगलांग घटना के समाधान में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की है

2017-09-01 15:19:00

चीनी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता रेन क्वो छ्यांग ने 31 अगस्त को पेइचिंग में कहा कि तूंगलांग घटना के बाद चीनी सेना ने घटना स्थल पर आपातकालीन कदम उठाकर भारतीय सेना के साथ अनेक बार सैन्य राजनयिक व सीमावर्ती संपर्क किया और इस घटना के समाधान में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी है ।

उसी दिन आयोजित संवाददाता सम्मेलन में प्रवक्ता ने प्रश्नोत्तर में कहा कि तूंगलांग घटना के बाद चीनी सेना ने देश की रक्षा करने की अपनी जिम्मेदारी उठाकर सैनिक संघर्ष करने की पूरी तैयारी की है । भविष्य में भी चीनी सेना तूंगलांग क्षेत्र में गश्त लगाना जारी रखेगी और देश की प्रभुसत्ता की कड़े तौर पर रक्षा करेगी । किसी मीडिया ने यह खबर प्रकाशित की कि चीन ने भारत को 20 अरब अमेरिकी डालर कर्ज़ देने, डबल सैनिक वापसी करने और इस क्षेत्र में मार्ग निर्माण न करने का वादा किया है । इस पर टिप्पणी करते हुए प्रवक्ता ने कहा कि यह खबर बिल्कुल निराधार है । चीनी प्रवक्ता ने कहा कि चीनी सेना तूंगलांग क्षेत्र में गश्त लगाना और तैनाती करना जारी रखेगी । दीर्घकाल तक चीनी पक्ष ने स्थानीय निवासियों व सीमावर्ती सैनिकों की सुविधा के लिए मार्ग समेत बुनियादी निर्माण किया है । भविष्य में भी हम अपनी आवश्यकता और जलवायु के मुताबिक संबंधित निर्माण की रूपरेखा बनाएंगे ।

प्रवक्ता ने कहा कि चीन व भारत दोनों सेनाओं के संबंध, दोनों देशों के बीच संबंधों का महत्वपूर्ण भाग है । दोनों देशों के रक्षा विभागों और सेनाओं को आपस में रणनीतिक संपर्क को मजबूत करना चाहिये ताकि गलतफहमी से बच सके । और यह दोनों पक्षों की समान कोशिश होनी चाहिये और वह दोनों पक्षों के हित में होगा ।

( हूमिन )

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी