रहस्य दर्शाने के दोष पर मोहम्मद मोरसी को आजीवन कारावास की सज़ा दी मिस्र के कोर्ट ने

2017-09-17 16:45:02

मिस्र की उच्चतम अपीलीय कोर्ट ने 16 सितंबर को कतर को राष्ट्रीय रहस्य दर्शाने के दोष पर मिस्र के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद मोरसी को आजीवन कारावास की अंतिम सज़ा सुनायी। उसी दिन मिस्र की आधिकारिक समाचार एजेंसी मध्य पूर्व समाचार एजेंसी ने इस बात की रिपोर्ट की।

रिपोर्ट के अनुसार मिस्र के उच्चतम अपीलीय कोर्ट ने फैसला सुनाया कि मोहम्मद मोरसी ने कतर को मिस्र की राष्ट्रीय सुरक्षा व सैन्य तैनाती संबंधी रहस्य दर्शाये। मोरसी को 25 सालों के लिये कारावास और अपील की अधिकारी से वंचित होने की सज़ा सुनायी गयी है। मिस्र के कानूनों के अनुसार 25 सालों के लिये कारावास आजीवन कारावास के बराबर है।

उसी दिन मुकद्दमा चलाने पर समान दोष पर मुस्लिम ब्रदरहुड के 3 सदस्यों को मौत की सज़ा सुनायी।

यह दुसरी बार है कि मिस्र के कोर्ट ने मोहम्मद मोरसी को अंतिम सज़ा सुनाई। वर्ष 2016 अक्तूबर में उच्चतम अपीलीय कोर्ट ने प्रदर्शनकारियों की अवैध नजरबंदी तथा हिंसक दमन देने के दोष पर मोरसी को 20 सालों के लिये कारावास की अंतिम सज़ा सुनायी

वर्ष 2012 मुस्लिम ब्रदरहुड के सदस्य मोहम्मद मोरसी मिस्र में जनता द्वारा निर्वाचित पहले राष्ट्रपति बने। एक वर्ष बाद उन्हें बड़े पैमाने पर प्रदर्शन में मिस्र सेना द्वारा अपने पद से हटाया गया। इसके बाद मिस्र सरकार ने मुस्लिम ब्रदरहुड को आतंकवादी संगठनों की सूची में शामिल किया। मोहम्मद मोरसी को जेल तोड़ने और जासूसी करने आदि आरोप में न्यायिक जांच हुई।

(हैया)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी