संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का नंबर 2375 प्रस्ताव उ.कोरिया में जनता की अजीविका व मानवीय जरूरतों पर प्रतिकूल प्रभाव नहीं डालना चाहता है :चीन

2017-09-18 18:36:00

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का नंबर 2375 प्रस्ताव उत्तर कोरिया में जनता की अजीविका और मानवीय जरूरतों पर प्रतिकूल प्रभाव डालना नहीं चाहता है। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू खांग ने 18 सितंबर को पेइचिंग में नियमित संवाददाता सम्मेलन में यह बात कही।

रिपोर्ट के अनुसार जापानी प्रधानमंत्री शिंजो अबे ने दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून जेइन को फोन कर उम्मीद जताई कि दक्षिण कोरिया उत्तर कोरिया को मानवीय सहायत देने के सही समय पर विचार कर सकेगा। मून जेइन ने जवाब दिया कि सिद्धांतांतः शिशुओं, छोटे बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं को मानवीय सहायता देना और राजनीतिक मुद्दा दोनों बात अलग हैं।

इस बात के प्रति लू खांग ने कहा कि चीन ने जापान और दक्षिण कोरिया के नेताओं के संबंधित घोषण पर ध्यान दिया। नंबर 2375 प्रस्ताव समेत सुरक्षा परिषद के उत्तर कोरिया के प्रति सभी प्रतिबंध संकल्प में स्पष्ट रूप से पुष्टि हुई कि ये प्रस्ताव उत्तर कोरिया में जनता की अजीविका और मानवीय जरूरतों पर प्रतिकूल प्रभाव डालना नहीं चाहते हैं। उम्मीद है कि संबंधित पक्ष इस प्रस्ताव को उचित तरीके से लागू कर सकेंगे।

दक्षिण कोरिया के योनहाप समाचार एजेंसी ने रिपोर्ट की कि दक्षिण कोरियाई सरकार 21 सितंबर को उत्तर कोरिया-दक्षिण कोरिया संपर्क व सहयोग को बढ़ाने की परिषद की बैठक का आयोजन करेगी। इस बैठक में वे फैसला करेंगे कि क्या दक्षिण कोरिया उत्तर कोरिया को सहायता देगा या नहीं।

इस बात के प्रति लू खांग ने कहा कि उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया एक समान जाति के हैं। चीन दोनों देशों के बीच संपर्क को मजबूत करने, संबंध में सुधार करने और सुलह को बढ़ाने का निरंतर समर्थन करता है।

(हैया)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी