संयुक्त राष्ट्र का आदर्श साकार नहीं, विभिन्न देशों को प्रयास करना है- वांग यी

2017-09-22 15:20:00

चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने 21 सितंबर को 72वीं संयुक्त राष्ट्र महासभा की आम बहस में भाग लिया और भाषण देते हुए कहा कि बीते हुए समय को देखा जाए, तो संयुक्त राष्ट्र संघ ने मानव जाति की शांति और विकास के लिए उत्कृष्ट योगदान दिया है। भविष्य की तरफ़ देखा जाए, तो संयुक्त राष्ट्र का आदर्श साकार नहीं हुआ है, विभिन्न देशों को लगातार प्रयास करना चाहिए।

वांग यी ने कहा कि हमने ऐसे युग में प्रवेश किया है। यानी कि विश्व में बहु-पक्षवाद का गहरा विकास हो रहा है, नवोदित बाज़ार देश और विकासशील देश उभरे हुए हैं। भूमंडलीकरण और सूचनाकरण को निरंतर आगे बढ़ाया जा रहा है। नए दौर की वैज्ञानिक और तकनीकी क्रांति लगातार बढ़ रही है। मानव जाति के सामने अधिक विकास और समृद्धि की खोज का अभूतपूर्व मौका है।

हमें ऐसी दुनिया की तरफ़ देखना चाहिए, जहां पर अंतरराष्ट्रीय ढांचे और शक्ति में भारी परिवर्तन आ रहा है। पारंपरिक और गैर-पारंपरिक खतरा उल्लेखनीय है। वैश्विक वृद्धि की प्रेरक शक्ति की कमी है और भूमंडलीकरण विरोधी विचारधारा व्यापक है। इस तरह मानव जाति के सामने स्थाई शांति और अनवरत विकास को साकार करने की चुनौती भी अभूतपूर्व है।

हम एक बार फिर चौराहे पर खड़े हो रहे हैं। शांति या युद्ध, खुलापन या इसे बंद करना, एकता या विभाजन। हमें सही विकल्प चुनना चाहिए।

वांग यी ने कहा कि दो साल पूर्व चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने इसी मंच पर यानी संयुक्त राष्ट्र महासभा की आम बहस में“सहयोग और समान जीत पर केंद्रित नए अंतरराष्ट्रीय संबंध और मानव जाति के समान भाग्य वाले समुदाय”को स्थापित करने की अपील की थी। यह राष्ट्रपति शी चिनफिंग द्वारा विश्व के आम रुझान को देखते ही प्रस्तुत महत्वपूर्ण अवधारणा ही नहीं, मानव जाति की विकसित दिशा के लिए चीन का प्रस्ताव भी पेश किया गया। यह प्रस्ताव संयुक्त राष्ट्र के उद्देश्य से मेल खाता है, जो विभिन्न सदस्य देशों के उच्च स्तरीय खोज से मिलता जुलता है, जिसका अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने व्यापक समर्थन किया। यह हमारे समान प्रयास का लक्ष्य भी बन चुका है।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी