चीन भारत संबंध आगे बढ़ना चाहिएः भारत स्थित चीनी राजदूत

2017-09-23 15:44:00

21 सितंबर को भारत स्थित चीनी राजदूत लुओ चोहुइ ने नई दिल्ली में तूंगलान घटना के बादः चीन भारत संबंध के विकास की दिशा शीर्षक संगोष्ठी में भाग लिया। उन्होंने कहा कि हाल ही में शियामन में हुई ब्रिक्स शिखर बैठक में दोनों देशों के नेताओं ने आगे देखकर चीन-भारत संबंध का नया अध्याय जोड़ने पर सहमति बनाई और भावी संबंधों के विकास की दिशा निर्देशित की।

बैठक में लुओ चोहुइ ने राष्ट्रपति शी चिनफिंग और प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की भेंट वार्ता का परिचय दिया। उन्होंने कहा कि वार्ता में शी चिनफिंग ने बल दिया कि दोनों पक्षों को एक दूसरे के लिए खतरे के बजाय विकास के मौके वाले इस बुनियादी निर्णय पर कायम रहना चाहिए। ड्रैगन और हाथी को साथ साथ नाचना चाहिए, न कि एक दूसरे से संघर्ष करना चाहिए। मोदी ने इस विचार पर राज़ी किया और कहा कि द्विपक्षीय संबंधों से 1 और एक मिलकर 11 बनने का राजनीतिक प्रभाव है।

इस संगोष्ठी में शरीक प्रतिनिधियों ने कहा कि तूंगलान घटना के बाद विभिन्न पक्ष चीन-भारत संबंधों की दिशा पर बड़ा ध्यान देते हैं। उनके विचार में तूंगलान मुकाबले के समाधान से दो बड़े देशों की बुद्धि और संबंधों की परिपक्वता जाहिर हुई है। दोनों पक्षों को बाद में मतभेद से समुचित रूप से निबटाकर सहयोग पर ध्यान केन्द्रित करना चाहिए ताकि द्विपक्षीय संबंध फिर स्वस्थ विकास के रास्ते पर लौटें।

भारत स्थित चीनी दूतावास ने यह संगोष्ठी आयोजित की। भारत के पूर्व राज्य सभा सदस्य तरुण विजय, सेना के पूर्व उप चीफ ऑफ स्टाफ ए एस लाम्बा, चीनी अनुसंधान संस्था के अध्यक्ष अशोक कंठ और जैसे अध्ययनकर्ताओं ने इसमें भाग लिया। (वेइतुङ)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी