अंतरराष्ट्रीय समुदाय से परमाणु हथियारों के खतरे को दूर करने की अपील- गुटेरेस

2017-09-27 18:46:59

परमाणु हथियार के प्रयोग का नतीजा बहुत भयानक है। आशा है कि सभी देश इस तरह के विनाशकारी हथियारों को पूरी तरह नष्ट करने के लिए समान प्रयास करेंगे। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने 26 सितंबर को“पूरी तरह परमाणु हथियारों को नष्ट करने के अंतरराष्ट्रीय दिवस”पर आयोजित स्मृति गतिविधि में यह बात कही।

गुटेरेस ने कहा कि हाल ही में लोगों ने परमाणु हथियारों के खतरे को अधिक महसूस किया है। उत्तर कोरिया ने सिलसिलेवार उत्तेजित परमाणु परीक्षण और मिसाइल प्रक्षेपण किया, जिससे स्थिति तनावपूर्ण होने लगी है। इसके साथ ही परमाणु हथियारों का खतरा भी अधिक बढ़ गया है। ऐसे समय में इस तरह की स्मृति गतिविधि का आयोजन सामयिक ही नहीं, बड़ा महत्वपूर्ण है।

गतिविधि में उपस्थित संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष मिरोस्लाव लैजक ने कहा कि वर्तमान दुनिया में आधे से अधिक जनसंख्या परमाणु हथियार संपन्न देशों और“परमाणु गठबंधन”के सदस्य देशों में रहती है। 21वीं सदी में प्रवेश होकर अब तक कुल 6 बार परमाणु परीक्षण किए गए हैं। यह चौंकाने वाली बात है। संबंधित देशों ने हाल ही में खराब बातें कहीं, यह भी चिंताजनक बात है। इससे हम परमाणु खतरे के और नजदीक जा रहे हैं।

गौरतलब है कि दिसम्बर 2013 में संयुक्त राष्ट्र महासभा में निर्णय पारित किया गया कि 26 सितंबर को“पूरी तरह परमाणु हथियारों को नष्ट करने का अंतरराष्ट्रीय दिवस”निश्चित किया गया। इसका उद्देश्य परमाणु हथियार के मानव जाति पर पैदा खतरे से संबंधित जानकारी और परमाणु हथियारों को पूरी तरह नष्ट करने की आवश्यकता का प्रसारण करना है, ताकि परमाणु हथियारों को पूरी तरह नष्ट किया जा सके।

(श्याओ थांग)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी