अमेरिकी रक्षा मंत्री और नाटो के महासचिव की अफ़गान यात्रा

2017-09-28 15:17:01

27 सितंबर को अमेरिकी रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस और नाटो के महासचिव जेन्स स्टोलटेनबर्ग ने अफ़गानिस्तान की अचानक यात्रा की। यह अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प द्वारा अगस्त माह में अफ़गानिस्तान युद्ध की नयी रणनीति की घोषणा के बाद अमेरिकी रक्षा मंत्री की प्रथम अफ़गान यात्रा है।

मैटिस और स्टोलटेनबर्ग ने नाटो की साझी सेना के मुख्यालय का दौरा करने के बाद एक साथ अफगान राष्ट्रपति घानी से वार्ता की। वार्ता के बाद आयोजित संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में मैटिस ने कहा कि अभी तक अफ़गानिस्तान में अमेरिकी सैनिकों की बढ़ने की संख्या तय नहीं की गयी है, लेकिन अमेरिका अफ़गान सुरक्षा सेना को और ज़्यादा हित देगा।

स्टोलटेनबर्ग ने कहा कि नाटो अमेरिका की नयी अफ़गान रणनीति का स्वागत करता है। उन्होंने तालिबान से पुनः वार्ता मेज पर वापस लौटने की अपील की। साथ ही उन्होंने घोषणा की कि नाटो 2020 तक हर साल अफ़गान सैन्य पक्ष को 1 अरब अमेरिकी डॉलर की सहायता देगा, ताकि अंतर्राष्ट्रीय समुदाय आतंकवाद के खिलाफ लड़ने के लिए अफ़गानिस्तान को मदद दे सके।

गौरतलब है कि मैटिस व स्टोलटेनबर्ग के काबुल पहुंचने के कई घंटों बाद काबुल अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के द्वार के नजदीक रॉकेट हमला हुआ, जिसमें एक व्यक्ति की मौत और अन्य 11 लोगों के घायल होने की ख़बर मिली। अफ़गानिस्तान शाखा के तालिबान सशस्त्र बलों ने इस हमले की जिम्मेदारी ली। फिर उग्रवादी संगठन आईएस ने भी इस हमले की रचना करने की जिम्मेदारी ली। कहा जा रहा है कि हमले में मैटिस को निशाना बनाया जा रहा था।

(श्याओयांग)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी