भारत में व्यापारिक समुदाय ने अच्छी अर्थव्यवस्था के लिये ब्याज दरें घटाने की अपील की

2017-10-03 18:18:00

मुंबई से मिली खबर के अनुसार फिक्की यानी फेडरेशन ऑफ इंडियन चैम्बर्स ऑफ़ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ने केन्द्रीय बैंक से ब्याज दरें घटाने को कहा है जिससे अर्थव्यवस्था में नई जान फूंकी जा सके।

ये बात चार अक्टूबर से पहले कही गई है जब केन्द्रीय बैंक द्वीमासीय वित्तीय नीति पर एक बैठक करने जा रहा है।

नोटबंदी और जीएसटी के कारण भारत की अर्थव्यवस्था को बहुत चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। फिक्की (FICCI) के मुताबिक सरकार को अर्थव्यवस्था को फिर से पटरी पर लाने के लिये कुछ कदम उठाने होंगे।

एक फिक्की अधिकारी ने बताया कि वित्तीय घाटा 3.7फीसदी तक हो सकता है इसलिये सरकार को आधारभूत ढांचे, जैसे सड़कें, बिजली, रेलवे और बंदरगाह में निवेश करना चाहिए ।

कोटक संस्थागत शेयर की रिपोर्ट के मुताबक कमज़ोर निवेश के कारण सकल घरेलू उत्पाद पर इसका असर 30 फीसदी तक पड़ सकता है जिससे बड़े स्तर पर चुनौतियों का सामना करना होगा।

साथ ही ये भी कहा गया कि पिछले कुछ समय से निवेश की गति धीमी पड़ रही है।

सेन्ट्रल बैंक के पूर्व अधिकारी डी सुब्बाराव ने बताया अगर ऐसे हालात बने रहे तो अर्थव्यवस्था की गति 7 फीसदी पर बनाए रखना मुश्किल होगा।

पंकज

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी