चीन : वैश्विक शरणार्थी प्रशासन को आगे बढ़ाने पर विचार प्रकट किये

2017-10-05 17:19:01

संयुक्त राष्ट्र संघ के जिनेवा और स्विट्जरलैंड स्थित अन्य अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के प्रतिनिधि स्थित स्थायी चीनी प्रतिनिधि मा चाओश्वू ने 4 अक्तूबर को संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी कार्यकारिणी कमेटी की 68वीं बैठक की आम बहस में भाषण देते समय शरणार्थी समस्या पर चीन के रुख व विचार पर प्रकाश डाला।

मा चाओश्वू ने कहा कि वैश्विक शरणार्थी की परिस्थिति निरंतर बिगड़ती रहती है। द्वितीय विश्व युद्ध के बाद आज शरणार्थियों की संख्या सबसे ज़्यादा है। मानवतावादी राहत पूंजी का गंभीर अभाव हुआ है। अधिकांश शरणार्थी विकासमान देशों में केंद्रित है, जो स्वीकार देशों के आर्थिक व सामाजिक विकास व सुरक्षा को भारी बोझ डालते हैं। शरणार्थी समस्या के राजनीतिकीकरण की प्रवृत्ति और गंभीर हो गयी है।

मा चाओश्वू ने शरणार्थी समस्या को हल करने के लिए चीन के तीन सुझाव पेश किए। पहला, हमें शरणार्थी कार्यालय और शरणार्थी स्वीकार करने वाले देशों के समर्थन पर जोर देना चाहिए। दूसरा, अंतर्राष्ट्रीय सहयोग की भावना को महत्व देना चाहिए। तीसरा, निर्पक्ष सिद्धांत पर कायम रहना चाहिए। मा ने जोर दिया कि चीन विभिन्न पक्षों के साथ वैश्विक शरणार्थी प्रशासन में योगदान देना चाहता है।

गौरतलब है कि संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी कार्यकारिणी कमेटी की 68वीं बैठक 2 से 6 अक्तूबर को जिनेवा में आयोजित हुई। 100 से ज्यादा सदस्य देशों, सर्वेक्षक देशों और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के प्रतिनिधियों ने बैठक में भाग लिया और वैश्विक शरणार्थी समस्या को हल करने पर विचार-विमर्श किया।

(श्याओयांग)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी