भारत और ईयू ने आपसी सहयोग मज़बूत बनाने पर सहमति जताई

2017-10-07 16:12:01

एक दिन तक चलने वाला 14वां भारत-ईयू शिखर सम्मेलन 6 अक्टूबर को भारत की राजधानी दिल्ली में आयोजित हुआ। दोनों पक्षों ने आतंकवाद, निवेश व्यापार, जलवायु परिवर्तन और अन्य क्षेत्रों में मौजूद सहयोग को मज़बूत बनाने की घोषणा की। साथ ही मुक्त व्यापार समझौते के फिर से शुरु होने की संभावना होगी।

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, यूरोपीय परिषद के अध्यक्ष डोनाल्ड टस्क, यूरोपीय संघ के अध्यक्ष जीन-क्लाउड जंकर ने सम्मेलन में हिस्सा लिया। मोदी ने सम्मेलन के बाद आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि भारत और यूरोपीय संघ के बीच बहु-आयामी रणनीतिक साझेदारी बहुत महत्वपूर्ण है। यूरोपीय संघ भारत का एक महत्वपूर्ण व्यापारिक भागीदार और निवेशक है।

मोदी ने कहा कि दोनों पक्षों ने आतंकवाद और जलवायु परिवर्तन आदि कई मुद्दों पर सहयोग करने पर सहमति जताई। यूरोपीय निवेश बैंक भारत के अंतर्राष्ट्रीय सौर ऊर्जा एलायंस परियोजना में मदद देगा।

टस्क का कहना है कि यूरोपीय संघ और भारत द्विपक्षीय राजनीतिक संबंधों को मजूबत बनाने और आतंकवाद के विरोध पर सहयोग करने पर सहमत हुए। साथ ही उन्होंने हिंद महासागर क्षेत्र के सुरक्षा मामले और रोहिंग्या शरणार्थी सहित कई मुद्दों पर चर्चा की। उनके अनुसार, शर्तों की पूर्ति के बाद ही दोनों पक्ष आपसी मुक्त व्यापार समझौतों पर फिर से बातचीत करना शुरु करेंगे।

अंजली

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी