चीनी मुस्लिमों को धार्मिक आज़ादी है:बांग्ला मीडिया प्रतिनिधि मंडल

2017-11-06 16:28:06

मैंने बांग्लादेश में सुना था कि चीन में बहुत से मुस्लिम हैं, लेकिन हमें जो पश्चिमी मीडिया से खबर मिलती थी, वे सब कहते थे कि चीनी मुस्लिम सामान्य धार्मिक गतिविधि नहीं कर सकते। आज यहां का दौरा करने के बाद मेरा विचार एकदम बदला है।

बांग्ला विज़न टीवी स्टेशन के राजनीतिक संवाददाता अबु हेना अमरुल कयेश ने यह बात कही। उन्होंने बांग्ला मीडिया प्रतिनिधि मंडल के सदस्य होने के नाते हाल ही में उरुमुची के यांगहांग मस्जिद की यात्रा की।

इस नवंबर के शुरू में 12 सदस्यों वाले बांग्ला मीडिया प्रतिनिधि मंडल शिनच्यांग वेवूर स्वायत्त प्रदेश की राजधानी उरुमुची के सबसे बड़े मस्जिद यांगहांग पहुंचा। मस्जिद के इमाम मुहथरम शेरीपुच्यांग ने इस मस्जिद के इतिहास और विकास स्थिति का परिचय दिया। यांगहांग मस्जिद का निर्माण वर्ष 1896 में शुरू हुआ था, जिसका इतिहास 120 साल से अधिक पुराना है। इस दौरान उसका चार बार पुनर्निमाण किया गया। वर्तमान में इस मस्जिद का कुल निर्माण क्षेत्र 3 हज़ार 3 सौ 30 वर्ग मीटर है, जिसमें पूजा हाल का क्षेत्रफल 900 वर्गमीटर है। उरुमुची में यहां पाठ करने वाले मुस्लिमों की संख्या सबसे ज्यादा है। हर शुक्रवार को लगभग 3 हजार मुस्मिल यहां आते हैं। बड़े धार्मिक त्योहार के समय यहां अक्सर 5 हजार से अधिक मुस्लिम आते हैं।

इमाम ने बताया कि हर जाति और हर देश के मुस्लिम यहां आकर पाठ सुना सकते हैं। हर साल कई देशों के मुस्लिम प्रतिनिधि मंडल यहां का दौरा करते हैं।

उन्होंने बताया, हमारे मस्जिद में हर साल दसियों प्रतिनिधि मंडल आते हैं। विभिन्न देशों और जातियों के हैं, जैसे पाकिस्तान, बांग्लादेश और इत्यादि।

इमाम ने बताया कि सरकार मुस्लिम और मस्जिद के विकास पर बड़ा ध्यान देती है। 30 अप्रैल 2014 को राष्ट्रपति शी चिनफिंग शिनच्यांग के निरीक्षण के समय खासकर यांगहांग मस्जिद आये। उन्होंने स्थानीय मुस्लिम और मस्जिद की स्थिति की पूछताछ की और नये ऑफिस इमारत बनाने का आदेश दिया।

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी