भारत पुनः उत्पादित ऊर्जा का जोरों पर विकास करेगा

2017-11-27 15:38:00

भारत ने हाल में पुनः उत्पादित ऊर्जा का जोरों से विकास करने की तीन-वर्षीय योजना पेश की है, जिसके अनुसार 100 गिगावॉट सौर और पवन ऊर्जा परियोजनाएं चलायी जाएंगी। साथ ही वर्ष 2022 तक सौर और पवन ऊर्जा का उत्पादन करने वाली क्षमता 200 गिगावॉट तक पहुंचेगी ।

भारत के नव और पुनः उत्पादित ऊर्जा मंत्रालय के राज्य मंत्री आनंद कुमार के अनुसार वर्ष 2020 के अंत तक भारत 80 गिगावॉट सौर ऊर्जा और 30 गिगावॉट पवन ऊर्जा का विकास करेगा । इससे पहले भारत सरकार ने पाँच सालों के भीतर 175 गिगावॉट पुनः उत्पादित ऊर्जा की वृद्धि करने की योजना भी बनायी है । नये तौर पर प्रस्तुत तीन वर्षीय योजना में पुरानी योजना का विस्तृत रूप से सुधार किया गया है ।

( हूमिन )

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी