अच्छे चीन-दक्षिण कोरिया संबंध इतिहास व युग की प्रवृत्ति से मेल खाते हैं

2017-12-12 19:00:05

चीन की यात्रा करने वाले दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून चिन-इन ने हाल में कहा कि उनकी चीन यात्रा का मकसद दक्षिण कोरिया व चीन के आपसी विश्वास की बहाली करना है और दोनों देशों के नागरिकों की मैत्रीपूर्ण भावना को गहरा करना है।चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू खांग ने 12 दिसम्बर को कहा कि अच्छे चीन-दक्षिण कोरिया संबंध इतिहास और युग की प्रवृत्ति से मेल खाते हैं और दोनों देशों की जनता की समान अभिलाषा भी है।

विदेश मंत्रालय के नियमित संवाददाता सम्मेलन में लू खांग ने प्रश्नोत्तर में कहा कि चीन व दक्षिण कोरिया पड़ोसी देश हैं और महत्वपूर्ण सहयोग साझेदार भी हैं। दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंधों की स्थापना के पिछले 25 सालों में मैत्रीपूर्ण आवाजाही, सहयोग व साझी जीत हमेशा ही चीन-दक्षिण कोरिया संबंधों की प्रमुख धारा है। आर्थिक व सामाजिक विकास को आगे बढ़ाने, क्षेत्रीय शांति, स्थिरता व समृद्धि को साकार करने में दोनों के व्यापक समान हित होते हैं। लू खांग ने कहा कि मून चिन-इन दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति बनने के बाद चीन के साथ संबंधों को बड़ा महत्व दे रहे हैं। थाड समस्या पर दक्षिण कोरिया की सरकार ने भी संजीदगी से अपना रुख प्रकट किया और इस समस्या पर चीन के साथ सहमति प्राप्त की। चीन आशा करता है कि थाड समस्या का अच्छी तरह निपटारा किया जा सकेगा। दोनों पक्ष एक दूसरे की प्रमुख चिंताओं का सम्मान कर द्विपक्षीय संबंधों के स्वस्थ व स्थिर विकास के रास्ते में वापस खींचने की कोशिश करेंगे, ताकि दोनों देशों व दोनों देशों की जनता को लाभ दे सके और क्षेत्रीय शांति, स्थिरता, विकास व समृद्धि को आगे बढ़ा सके।

(श्याओयांग)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी