कई देशों ने किया वार्ता से येरूशलम मामले के समाधान का समर्थन

2017-12-13 19:24:01

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 6 दिसंबर को येरूशलम को इजराइल की राजधानी मानने की घोषणा की, और कहा कि अमेरिका इजराइल स्थित अपने दूतावास को तेल अवीव से येरूशलम तक स्थानांतरण करेगा। चीन, रूस, मिस्र, तुर्की आदि देशों ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के संबंधित प्रस्ताव के पालन की बात दोहरायी, और येरूशलम मामले का समाधान फिलिस्तीन व इजराइल द्वारा वार्ता से करने का समर्थन भी दिया।

मिस्र स्थित चीनी राजदूत, अरब लीग स्थित चीनी प्रतिनिधि सोंग आईक्वो ने 11 दिसंबर को काहिरा में अरब प्रशासनिक विकास संगठन के वार्षिक सम्मेलन में कहा कि चीन हमेशा से मध्य पूर्व की शांति प्रक्रिया का समर्थन देता है, और संयुक्त राष्ट्र संघ के संबंधित प्रस्तावों के आधार पर येरूशलम समेत मध्यपूर्व के संबंधित मामलों के समाधान का समर्थन करता है। साथ ही चीन संप्रभु व स्वतंत्र फिलिस्तीन का समर्थन देता है, जिसकी सीमा वर्ष 1967 में निश्चित की गयी, और जिस की राजधानी पूर्व येरूशलम है।

सोंग आईक्वो ने कहा कि येरूशलम मामला बहुत जटिल व संवेदनशील है। विभिन्न पक्षों को क्षेत्रीय शांति व सुरक्षा पर ध्यान देकर सावधानी से काम करना चाहिये।

चंद्रिमा

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी