जापान चीन संबंधों को नई मंजिल पर पहुंचाएं- शिंजो अबे

2017-12-20 13:14:03

जापानी प्रधानमंत्री शिंजो अबे ने 19 दिसम्बर को तोक्यो में भाषण देते हुए कहा कि अगले साल जापान-चीन मित्रवत संधि पर हस्ताक्षर की 40वीं वर्षगांठ होगी, जिससे लाभ उठाकर जापान और चीन के बीच उच्च स्तरीय आवाजाही मज़बूत की जाएगी और दोनों देशों के संबंधों को एक नई मंजिल पर पहुंचाया जाएगा।

अबे ने हाल में कुछ जगहों पर जापान-चीन संबंधों को आगे बढ़ाने की इच्छा व्यक्त की। 11 नवम्बर को चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने वियतनाम के डा नांग में अबे से मुलाकात की। शी ने कहा कि इस वर्ष चीन-जापान संबंधों के सामान्य होने की 45वीं वर्षगांठ है। अगले साल चीन-जापान मित्रवत संधि पर हस्ताक्षर की 40वीं वर्षगांठ होगी। दोनों पक्षों को दोनों देशों की जनता के मूल हितों के अनुसार शांति, मैत्री और सहयोग की बड़ी दिशा पर प्रयास करना चाहिए। ताकि द्विपक्षीय संबंधों में लगातार सुधार होने के साथ-साथ अच्छी दिशा की ओर आगे विकास हो सके।

अबे ने कहा कि जापान चीन के साथ मिलकर अगले साल दोनों देशों के बीच मित्रवत संधि पर हस्ताक्षर किए जाने की 40वीं वर्षगांठ से लाभ उठाकर दोनों देशों के बीच रणनीतिक और आपसी उदार वाले संबंधों को आगे बढ़ाना चाहता है। जापान को आशा है कि चीन के साथ उच्च स्तरीय आवाजाही मज़बूत करते हुए आपसी उदार और उभय जीत वाले आर्थिक व्यापारिक सहयोग करेगा। आपसी संपर्क और “बेल्ट एंड रोड”के ढांचे में सहयोग पर सक्रिय रूप से विचार विमर्श करेगा।

गौरतलब है कि 14 नवम्बर को अबे ने फिलिपींस की राजधानी मनीला में आयोजित पत्रकार सम्मेलन में एक बार फिर ”बेल्ट एंड रोड” प्रस्ताव की चर्चा की। उन्होंने कहा कि वे ”बेल्ट एंड रोड” के विश्व शांति और समृद्धि में योगदान देने की अपेक्षा में है। इसी दृष्टि से जापान चीन के साथ सहयोग करना चाहता है।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी