चारा घोटाला मामले में लालू प्रसाद यादव दोषी

2017-12-24 16:13:01

पूर्वी शहर रांची में एक विशेष अदालत ने शनिवार को बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव को भ्रष्टाचार के मामले में दोषी ठहराया। अब तीन जनवरी को उनकी सजा का ऐलान किया जाएगा।

लालू राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के अध्यक्ष हैं और 1990 और 1997 के बीच बिहार के दो बार मुख्यमंत्री रह चुके हैं। वे 2004 से 2009 के बीच भारत के रेल मंत्री रहे, जब वे पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अध्यक्षता वाली कांग्रेस नेतृत्व गठबंधन सरकार में एक प्रमुख सहयोगी के रूप में थे।

चारा घोटाले का मामला 1990 में उनके मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठने से शुरू हो गया था, जो कई सालों तक चलता रहा। 1998 में उनके खिलाफ आरोप लगाए गए, जब उन्होंने मुख्यमंत्री के रूप में पद छोड़ दिया और अपने उत्तराधिकारी के रूप में अपनी पत्नी को मुख्यमंत्री बनाया।

लालू भारत में एक लोकप्रिय और एक विवादास्पद नेता रहे हैं। उनका राजनीतिक करियर चार दशकों से अधिक के समय का है।

वह चारा घोटाले में पांच मामलों का सामना कर रहे हैं जिनमें से चार लंबित हैं।

चारा घोटाला का यह मामला 1994 से 1996 तक कोषागार से 8.45 मिलियन रुपये की अवैध निकासी का है। इस मामले में पूर्व मुख्यमंत्री जगननाथ मिश्र समेत 34 लोग दोषी हैं।

(अखिल पाराशर)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी