भारत : लोकसभा में पास हुआ तीन तलाक खत्म करने का विधेयक

2017-12-29 19:59:04

भारतीय संसद के निचले सदन यानी लोकसभा ने गुरूवार को बहुचर्चित मुस्लिम महिला (विवाह अधिकार संरक्षण) विधेयक-2017 को पारित कर दिया। भारत सरकार ने इस बिल को पारित किये जाने को “ऐतिहासिक” बताया।

भारतीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि तीन तलाक की प्रथा को कई इस्लामिक देशों में भी रोक दिया गया है और विनियमित किया जा रहा है और भारत जैसे धर्मनिरपेक्ष देश में मुस्लिम महिलाओं के लिए न्याय सुनिश्चित करना होगा।

प्रस्तावित कानून के अनुसार, तीन तलाक देने पर पति को तीन साल तक की कैद की सजा और जुर्माना का प्रावधान है। इसे संज्ञेय और गैरजमानती अपराध की श्रेणी में रखा गया है। किसी भी तरह का तीन तलाक (बोलकर, लिखकर या ईमेल, एसएमएस और व्हाट्सएप जैसे इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से) गैर-कानूनी होगा।

पड़ोसी देश पाकिस्तान और बांग्लादेश सहित लगभग 22 मुस्लिम देशों ने तीन तलाक को समाप्त कर दिया है। हालांकि भारत में यह प्रथा अभी भी प्रचलित थी।

मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने कहा कि तीन तलाक को खत्म किये जाने का समर्थन करते हैं, पर विधेयक में कुछ बदलाव किये जाने की मांग है। लेकिन बीजू जनता दल, एआईएडीएमके, और तृणमुल कांग्रेस ने विधेयक का पूरा विरोध किया।

अब इस विधेयक को राज्यसभा में पेश किया जाएगा। अगर सरकार राज्यसभा में भी इस विधेयक को पास करा लेती है, तो फिर इसको राष्ट्रपति की मंजूरी के लिए भेजा जाएगा। राष्ट्रपति के हस्ताक्षर होने के बाद यह विधेयक कानून बन जाएगा।

(अखिल पाराशर)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी