श्रीलंका में सबसे बड़ी जलाशय का समर्पण समारोह आयोजित

2018-01-09 17:00:05

8 जनवरी को मध्य श्रीलंका में स्थित मोरागाहकंद जलाशय का समर्पण समारोह आयोजित हुआ। चीनी कंपनी पावर चाईना (Power China) ने इस जलाशय का निर्माण किया है। यह परियोजना श्रीलंका में जल संसाधन का असंतुलन और बाढ़ आपदा जैसी समस्याओं को हल करने के लिये काफी उपयोगी होगी।

श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरीसेना, प्रधान मंत्री रानिल विक्रमसिंघे, संसद के अध्यक्ष कारू जयसूर्या और श्रीलंका में चीनी दूतावास के अस्थायी प्रमुख पांग छुनश्यू ने इस समारोह में भाग लिया। हजारों श्रीलंकाई लोगों की मौजूदगी में पांग छुनश्यू ने इस योजना की शुरुआती कुंजी और संबंधित जानकारियों, संदर्भावलोकनों को राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरीसेना के हवाले किया।

मैत्रीपाल सिरीसेना ने इस योजना का काफी उच्च मूल्यांकन किया। उन्होंने चीनी सरकार और इस योजना के निर्माताओं को धन्यवाद दिया।

पता चला है कि मोरागाहकंद जलाशय योजना श्रीलंका में सबसे बड़ी जल संरक्षण परियोजना है। इस जलाशय की जल संग्रह क्षमता 57 करोड़ क्यूबिक मीटर पहुंची। साथ ही इस योजना से 25 मेगावॉट की बिजली पैदा होगी।

पावर चाईना के अधिकारी ने परिचय दिया कि वर्ष 2012 जुलाई में इस योजना का निर्माण शुरू हुआ था और वर्ष 2017 जुलाई में इसका काम पूरा हुआ।(हैया)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी