ली खछ्यांग कंबोडिया की यात्रा समाप्त कर स्वदेश लौटे

2018-01-12 11:31:01

चीनी प्रधानमंत्री ली खछ्यांग कंबोडिया की राजधानी नोम पेन्ह में मेकोंग-लानछांग सहयोग के दूसरे शिखर सम्मेलन में भाग लेने और कंबोडिया की औपचारिक यात्रा करने के बाद 11 जनवरी की रात को विशेष विमान से पेइचिंग वापस लौटे।

नोम पेन्ह में ली खछ्यांग 24 घंटे से कम समय तक ठहरे हैं। इसी दौरान उन्होंने 20 से अधिक द्विपक्षीय और बहुपक्षीय गतिविधियों में भाग लिया। मेकोंग-लाछांग सहयोग शिखर सम्मेलन में उन्होंने“3 5 X सहयोग ढांचा”पेश किया, यानी कि राजनीतिक सुरक्षा, आर्थिक अनवरत विकास और सामाजिक मानविकी क्षेत्र समेत तीन पहलुओं में समन्वय विकास पर कायम रहते हुए आपसी संपर्क, उत्पादन क्षमता, सीमा पार अर्थतंत्र, जल संसाधन, कृषि और गरीबी उन्मुलन जैसे पाँच क्षेत्रों में सहयोग का विकास किया जाए, इसके साथ ही डिजिटल अर्थतंत्र, पर्यावरण संरक्षण, स्वास्थ्य, कस्टम और युवा आदि क्षेत्रों में सहयोग का विस्तार किया जाए। ली खछ्यांग ने आशा जताई कि विभिन्न पक्ष समानता, सहिष्णुता और वास्तविकता वाली लानछांग-मेकोंग भावना प्रसार करते हुए दोनों नदियों के क्षेत्रीय आर्थिक विकास बेल्ट स्थापित किया जाएगा और लानछांग-मेकोंग क्षेत्रीय देशों के साझे भाग्य समुदाय का निर्माण किया जाएगा।

कंबोडिया की यात्रा के दौरान ली खछ्यांग ने दोहराया कि चीन कंबोडिया की प्रभुसत्ता और स्वतंत्रता का हमेशा सम्मान करता है और कंबोडिया के अपनी राष्ट्रीय स्थिति के अनुसार विकसित रास्ते पर आगे बढ़ने का समर्थन भी करता है। चीन कंबोडिया के आर्थिक विकास और जन जीवन में सुधार के लिए यथा संभव सहायता देना चाहता है। ताकि “बेल्ट एंड रोड”के समान निर्माण से लाभ उठाते हुए विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग और मज़बूत किया जा सके, आपसी लाभ और उभय जीत को और अच्छी तरह से साकार किया जाए।

कंबोडिया की यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच 19 सहयोगी दस्तावेज़ों पर हस्ताक्षर किए गए और संयुक्त विज्ञप्ति जारी की गई। इसके साथ ही चीन-कंबोडिया रणनीतिक अर्थ वाले साझे भाग्य समुदाय की स्थापना करने की घोषणा की गई।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी