दिल्ली में तीन मूर्ति चौक का नाम बदलकर हुआ ‘तीन मूर्ति-हाइफा चौक’

2018-01-16 10:07:02

भारतीय प्रधानमत्री नरेंद्र मोदी और भारत दौरे पर आए उनके इजरायली समकक्ष बेंजामिन नेतन्याहू ने रविवार को भारतीय सैनिकों की याद में "तीन मूर्ति-हैफा चौक" के रूप में एक महत्वपूर्ण सड़क-क्रॉसिंग का नाम बदला है, जिन्होंने प्रथम विश्व युद्ध के दौरान इजरायल के शहर हैफा को मुक्त करने के लिए अपनी ज़िंदगी दे दी थी।

तीन मूर्ति पर कांस्य की तीन मूर्तियां हैदराबाद, जोधपुर और मैसूर लैंसर का प्रतिनिधित्व करती हैं जो 15 इंपीरियल सर्विस कैवलरी ब्रिगेड का हिस्सा थे। ब्रिगेड ने प्रथम विश्व युद्ध के दौरान 23 सितंबर 1918 में हाइफा शहर पर हमला किया था और उसे जीत लिया था।

मोदी ने तीन मूर्ति मेमोरियल में रखे आगंतुक रजिस्टर में लिखा था: "पहले विश्व युद्ध के दौरान हाइफ़ा की मुक्ति के लिए अपनी जिंदगी न्यौछावर करने वाले बहादुर सैनिकों को सलाम करने के लिए आज यहां उपस्थित होने में मैं बहुत ज्यादा सम्मानित महसूस कर रहा हूं।" उन्होंने यह भी लिखा है कि अगले साल हाइफ़ा की लड़ाई की शताब्दी भारत और इसराइल के बीच स्थायी बंधन को चिह्नित करने का एक और मौका पेश करेगा।

(अखिल पाराशर)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी