श्रीलंकाई और चीनी विचारकों ने मिलकर किताब लॉन्च की

2018-01-17 15:02:00

दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने के लिए मंगलवार को श्रीलंकाई और चीनी विचारकों (थिंक टैंको) ने संयुक्त रूप से "शेरों का द्वीप और ड्रैगन की भूमि" नामक चीन-श्रीलंका संबंधों पर एक पुस्तक लॉन्च की।

इस पुस्तक में श्रीलंका और चीन के विद्वानों द्वारा संकलित श्रीलंका, चीन के संबंधों पर निबंधों की एक श्रृंखला शामिल है और श्रीलंका में पाथफाइंडर फाउंडेशन और चीन संस्थान समकालीन अंतर्राष्ट्रीय संबंधों का संयुक्त प्रकाशन है।

इस लॉन्च के अवसर पर श्रीलंका के सेंट्रल बैंक के गवर्नर डॉ. इंद्रजीत कुमारस्वामी ने कहा कि चीन श्रीलंका के सबसे बड़े विकास भागीदारों में से एक है और एक मजबूत दोस्त भी है।

कुमारस्वामी ने कहा यह लॉन्च कुछ कठिन परिश्रम का नतीजा है। जैसा कि चीन-लंका के संबंध कई वर्षों से उत्कृष्ट रहे हैं, भविष्य भी और भी रोमांचक होगा।

श्रीलंका में चीनी उप राजदूत, पांग छुनशुए ने कहा कि इस किताब का लॉन्च होना दोनों देशों के बीच संबंधों में एक बहुत अनूठा क्षण था।

पांग ने कहा कि 2017 चीन और श्रीलंका के राजनयिक संबंधों की स्थापना की 60वीं वर्षगांठ और रबर-राइस संधि की 65वीं वर्षगांठ के रूप में चीन और द्विपक्षीय संबंधों के लिए एक महत्वपूर्ण वर्ष था। इस पुस्तक का लॉन्च होना 2018 के लिए एक अच्छी शुरुआत थी।

(अखिल पाराशर)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी