अंतरारष्ट्रीय समुदाय में चीन की भूमिका को सही दृष्टि से देखें : चीन

2018-01-19 20:02:04

18 जनवरी को भारत की राजधानी दिल्ली में आयोजित एक सम्मेलन में अमेरिका, भारत और जापान के प्रतिनिधियों ने कहा कि हिंद-प्रशांत और दूसरे अंतरराष्ट्रीय समुद्री क्षेत्र में चीन लगातार कठोर हो रहा है, इसके प्रति उन्हें चिंता है।

इस पर प्रतिक्रिया देते हुए चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू खांग ने 19 जनवरी को आयोजित नियमित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि अंतरराष्ट्रीय परिस्थिति से संबंधित मुद्दे पर चीन का विचार है कि एक आपसी सम्मान, न्याय, सहयोग और उभय जीत वाले नए अंतरराष्ट्रीय संबंध की स्थापना करना। सामान्य तर्क से कहा जाए, तो इस प्रकार के नए अंतरराष्ट्रीय संबंध की स्थापना करने का प्रयास शांति प्रिय और समान विकास की खोज करने वाले देशों व लोगों को चिंता नहीं होनी चाहिए। आशा है कि संबंधित देश अंतरराष्ट्रीय समुदाय में चीन की अधिक से अधिक सक्रिय भूमिका को सही दृष्टि से देखेंगे।

लू खांग ने कहा कि हमने संबंधित रिपोर्ट पर ध्यान दिया है। हम हमेशा कहते हैं कि चीन शांतिपूर्ण रास्ते पर आगे बढ़ रहा है। हम ऐसा कहते हैं और ऐसा करते भी हैं। चीन का विचार है कि एक आपसी सम्मान, न्याय, सहयोग और उभय जीत वाले नए अंतरराष्ट्रीय संबंध की स्थापना किया जाए। संबंधित प्रयास पर शांति प्रिय और समान विकास की खोज में संलग्न देश और लोग चिंतित हैं। अगर उनके विचार में इस प्रकार का प्रयास एक विनाशकारी शक्ति है, तो हम उल्टा पूछना चाहते हैं कि वे किस चीज़ के नष्ट हो जाने के प्रति चिंतित हैं?

लू खांग ने आशा जताई कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय में चीन की ज्यादा से ज्यादा सक्रिय भूमिका को सही तरह से देखेंगे। अंतरराष्ट्रीय समुदाय में अधिकांश सदस्यों की प्रक्रिया पर ध्यान देंगे। यह अवश्य है कि कुछेक देशों के गिने-चुने लोग ही चीन के प्रति चिंतित हैं।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी