श्रीलंका का सबसे बड़ा प्रत्यक्ष विदेशी निवेश स्रोत बना चीन

2018-01-30 16:00:39

श्रीलंका निवेश बोर्ड द्वारा 29 जनवरी को जारी आंकड़ों के मुताबिक 2017 में श्रीलंका में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की कुल राशि 1.63 अरब अमेरिकी डॉलर थी, जो इतिहास में सबसे बड़ी है। इसमें 35 प्रतिशत निवेश चीन से आया है। पिछले साल चीन श्रीलंका का सबसे बड़ा एफ़डीआई का स्रोत बना।

गौरतलब है कि 2016 में श्रीलंका में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की राशि केवल 80 करोड़ 20 लाख अमेरिकी डॉलर थी। इस आंकड़े के 2017 में तेजी से बढ़ने की वजह श्रीलंका सरकार के अर्थव्यवस्था को निवेश और निर्यात के उन्मुख अर्थव्यवस्था में पुनर्गठन करना है। आंकड़ों के मुताबिक गत वर्ष श्रीलंका के पर्यटन, सूचना प्रौद्योगिकी आदि क्षेत्रों में विदेशी निवेश की सबसे अधिक वृद्धि हुई।

श्रीलंका के विकास रणनीति और अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मंत्री मलिक समरविक्रमा ने कहा कि श्रीलंका की अर्थव्यवस्था में बड़ी संभावित क्षमता रही है। भविष्य में सरकार सुधार को बढ़ावा देगी, नए कर अधिनियम और विदेशी मुद्रा अधिनियम के जरिए विदेशी निवेश के लिए ज्यादा दोस्ताना और सुविधाजनक वातावरण प्रदान करेगी।

समरविक्रमा ने कहा कि सरकार की परियोजना के मुताबिक इस साल एफ़डीआई राशि 2.5 अरब अमेरिकी डॉलर तक पहुँच जाएगी। इसके साथ इस आंकड़े के 2020 में 5 अरब अमेरिकी डॉलर से पार होने की उम्मीद भी है।

(नीलम)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी