अमेरिका द्वारा पारित नई“परमाणु स्थिति की आकलन रिपोर्ट”का विरोध- चीन

2018-02-04 16:32:09

पेइचिंग समय के अनुसार अमेरिकी रक्षा मंत्रालय ने 3 फरवरी को नई“परमाणु स्थिति की आकलन रिपोर्ट”जारी कर चीन के विकास की इरादे पर मनमाने ढंग से अनुमान लगाया और चीन की परमाणु शक्ति वाली धमकी का प्रसार किया। चीन ने इसका कड़ा विरोध किया। चीनी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता रन क्वोछ्यांग ने 4 फरवरी को यह बात कही।

उन्होंने कह कि चीन शांतिपूर्ण विकास रास्ते पर आगे बढ़ रहा है और प्रतिरक्षात्मक रक्षा नीति पर कायम रहता है। चीन हमेशा से ऐसी नीति का पालन करता है, जो किसी भी समय और किसी भी हालत में पहले परमाणु हथियारों का प्रयोग नहीं करेगा। चीन ने स्पष्ट रूप से वचन दिया कि बिना शर्त परमाणु हथियार रहित देशों और क्षेत्रों में परमाणु हथियार का प्रयोग नहीं करेगा या परमाणु हथियारों के उपयोग की धमकी नहीं देगा। चीन परमाणु हथियारों के क्षेत्र में हमेशा संयम रखते हुए अपनी परमाणु शक्ति को देश की मांग के लिए न्यूनतम स्तर तक रखता है।

रन क्वोछ्यांग ने कहा कि शांति और विकास अपरिहार्य वैश्विक धारा है। अमेरिका के पास विश्व में सबसे बड़े परमाणु हथियारों का भंडार उपलब्ध है, उसे इस धारा के अनुसार होना चाहिए, न कि इसके विपरीत रास्ते पर आगे बढ़ते हुए। चीन को आशा है कि अमेरिका शीत युद्ध की विचारधारा को छोड़कर चीन की रणनीति को सही समझ करते हुए चीन की रक्षा और सेना के निर्माण के साथ सही व्यवहार करेगा, चीन के साथ एक ही दिशा में आगे बढ़ेगा। ताकि दोनों देशों की सेनाओं का संबंध चीन-अमेरिका संबंधों में स्थिर तत्व बन सके और वैश्विक व क्षेत्रीय शांति, स्थिरता और समृद्धि को समान रूप से बनाए रखा जा सके।

(श्याओ थांग)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी