परमाणु समझौते में संशोधन की जरूरत नहीं- ईरानी राष्ट्रपति

2018-02-07 19:32:00

6 फरवरी की शाम ईरान के राष्ट्रपति हसन रोहानी ने तेहरान में देसी-विदेशी मीडिया के साथ संवाददाता सम्मेलन बुलाया, जिसमें 200 से अधिक पत्रकार शामिल हुए।

अमेरिका सरकार द्वारा ईरान के परमाणु समझौते में संशोधन के आग्रह पर रोहानी ने कहा कि ट्रम्प ने चुनाव के दौरान परमाणु समझौते से हटने का वादा किया था, लेकिन उसके सत्ता में आने के बाद एक साल हो चुका है, यह वादा पूरा नहीं हुआ। इससे परमाणु समझौते की शक्ति जाहिर हुई। परमाणु समझौतों पर पुनर्विचार और संशोधन की जरूरत नहीं है, और न ही इसका अन्य मामलों से कोई संबंध है। उन्होंने कहा कि परमाणु करार का भविष्य निश्चित नहीं है, लेकिन ईरान समझौते का उल्लंघन करने वाला पहला देश नहीं बनेगा।

उत्तर सीरिया के अफरीन क्षेत्र में जारी तुर्की के सैन्य अभियान के बारे में जवाब देते हुए रोहानी ने कहा, तुर्की के सैन्य अभियान से अपने स्वयं के सैनिकों और "कुर्द ब्रदर्स" को नुकसान पहुंचने की आशंका है। इससे कोई परिणाम हासिल नहीं होगा और इसे जल्द से जल्द खत्म किया जाना चाहिए। ईरान रूस और तुर्की के साथ अच्छे संबंध रखता है,लेकिन एक देश की सेना को दूसरे देश में प्रवेश करने के लिये इस देश की अनुमति लेने की जरूरत होती है, अन्यथा यह अन्यायपूर्ण होगा। साथ ही उन्होंने ज़ोर देते हुए कहा कि ईरान, रूस और तुर्की को एक दूसरे के बीच सहयोग मज़बूत बनाना चाहिये, यह सीरिया में शांति हासिल करने की एक आवश्यक शर्त है।

(अंजली)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी