मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति के आरोपों को खारिज किया चीन ने

2018-02-14 11:02:03

मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद द्वारा भारतीय मीडिया में प्रकाशित किए गए झूठे बयान से चीन और मालदीव के बीच व्यवहारिक सहयोग को नुकसान पहुंचा है।जो हिंद महासागर क्षेत्र की सुरक्षा के लिए एक खतरा भी है। नशीद के संबंधित बयान तथ्यों के विपरीत हैं। मालदीव स्थित चीनी दूतावास के प्रवक्ता यांग यिन ने 12 फरवरी को यह बात कही।

यांग यिन ने कहा कि इधर के वर्षों में चीन और मालदीव ने एक दूसरे का सम्मान और समानता के सिद्धांत पर सिलसिलेवार आपसी लाभ और समान जीत वाला सहयोग किया। बुनियादी संस्थापनों के स्तर को उन्नत करने, जन-जीवन सुधारने और आपसी लाभ वाले समान जीत प्राप्त करने के लिए मालदीव को सहायता देने के लिए चीनी उद्यमों के कर्मचारी दिन-रात काम करते हैं। जिससे मालदीव के आर्थिक और सामाजिक विकास में बड़ी प्रगति हासिल हुई, लोगों की जीवन स्थिति लगातार बेहतर हो रही है। यह चीन और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की आशा वाली बात है।

यांग यिन ने कहा कि चीन और मालदीव की सरकार के बीच मैत्रीपूर्ण और आपसी लाभ वाला सहयोग हो रहा है, जिनमें कुछ हाउसिंग परियोजनाएं और एटोल राजमार्ग को जोड़ने की परियोजना पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद के कार्यकाल में शुरू हुई।

यांग यिन ने कहा कि चीन और मालदीव समान रूप से "एक पट्टी एक मार्ग" निर्माण को आगे बढ़ाते हैं, जिससे दोनों देशों की जनता को लाभ मिलेगा। चीन को आशा है कि नशीद सही रूप से स्थिति देखकर वस्तुगत, निष्पक्ष और संतुलित दृष्टि से दोनों देशों के बीच संबंधों के विकास का सामना करेंगे।

(वनिता)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी