चीन असहज दुनिया को सकारात्मक ऊर्जा देता है

2018-02-18 18:02:01

54वें म्यूनिख सुरक्षा सम्मेलन 16 से 18 फरवरी तक जर्मनी के म्यूनिख में आयोजित हुआ। दुनियाभर के कई देशों से आए 5 सौ से अधिक राजनेताओं और विभिन्न जगतों के जाने-माने व्यक्तियों ने इस में भाग लिया।

चीनी राष्ट्रीय जन प्रतिनिधि सभा के विदेश मामलों की समिति की अध्यक्षा फू यिंग ने इस सम्मेलन में कहा कि हमें सहयोग और समान जीत वाले रास्ते पर आगे बढ़ाना चाहिए। नए युग में चीन द्वारा निर्धारित राजनयीक परियोजनाओं में नए किस्म वाले अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के निर्माण में बढ़ावा देना, मानव जाति की बेहतरी वाली व्यवस्था की स्थापना करना, स्थायी शांति, सार्वभौमिक सुरक्षा और समान सृद्धि पर ज़ोर देना शामिल हैं। यह भविष्य में दुनिया की उम्मीद के साथ चान के विकास की आवश्यक मांग भी है।

रूसी अंतर्राष्ट्रीय मामले की कमेटी के अध्यक्ष आंद्रे कोर्तुनोव का विचार है कि विश्व सुरक्षा क्षेत्र में चीन को और बड़ी भूमिका निभाना चाहिए और हमें चीन की आवाज सुनना चाहिए।

म्यूनिख सुरक्षा सम्मेलन के एक शाखा मंच पर विश्व बैंक के पूर्व अध्यक्ष रॉबर्ट बी. ज़ोलिक ने 10 से अधिक बार चीन की चर्चा की। उन्होंने कहा कि मैं ने वैश्वीकरण को आगे बढ़ाने के लिए दी गई कोशिशों के लिए चीन की बड़ी प्रशंसा की। यह अंतर्राष्ट्रीय व्यापार और आर्थिक व्यवस्था की स्थिरता के लिए महान लाभ दिया गया है।

नाटो के रक्षा और निवेश मामले के सहायक महासचिव केमिली ग्रैंड ने कहा कि चीन न केवल विश्व अर्थतंत्र की नेतृत्व शक्ति बनता है, बल्कि सुरक्षा परिषद के स्थानी सदस्य देश के रूप में अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा की रक्षा करने वाला एक महत्वपूर्ण हिस्सेदार भी है।

(वनिता)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी