महिलाओं को अधिकार देना 2030 सतत विकास एजेंडे का सार- गुटरेस

2018-03-08 18:32:02

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटरेस ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य में कहा कि महिला और पुरुष के बीच असमानता और महिलाओं के प्रति भेदभाव देना सारे लोगों के लिए खतरनाक है। महिलाओं को अधिकार देना वर्ष 2030 सतत विकास एजेंडे का सार है।

गुटरेस ने कहा कि लैंगिक समानता मानव अधिकारों का मुद्दा है। लैंगिक समानता को पूरा करना और महिलाओं और बच्चियों को अधिकार देना मानव समाज का अधूरा कार्य है और दुनिया के सामने मौजूद सबसे बड़ी मानवाधिकार चुनौती है।

लैंगिक असमानता से पैदा सामाजिक मुद्दों को लेकर गुटरेस ने कहा कि दुनिया में 1 अरब से ज्यादा महिलाओं के प्रति घरेलू यौन हिंसा के खिलाफ कानूनी सुरक्षा की कमी है। कुछ कार्य और सार्वजनिक स्थानों पर यहाँ तक कि कुछ घरों में यौन उत्पीड़न की घटनाएं जारी हैं।

गुटरेस ने कहा कि महिलाओं की भागीदारी से शांति समझौता ज्यादा शक्तिशाली बनेगा, समाज अधिक लचीला होगा और अर्थव्यवस्था ज्यादा ऊर्जावान होगी। संयुक्त राष्ट्र महिलाओं के साथ उनके सामने असमानता का खात्मा करेगा।

(नीलम)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी