कोलकाता स्थित ह्वेनसांग मंदिर की स्थापना की 50वीं वर्षगांठ

2018-03-15 16:03:03

14 मार्च को कोलकाता स्थित चीनी जनरल काउंसिलर मा चेनवू ने ह्वेनसांग मंदिर की स्थापना की 50 वीं वर्षगांठ के कार्यक्रम में भाग लिया ।पश्चिम बंगाल सरकार के अधिकारी ,धार्मिक जगत के व्यक्ति ,कलाकार और चीनी बौद्ध धर्म संघ के प्रतिनिधियों ने इसमें हिस्सा लिया।

मा चेनवू ने इस मौके पर कहा कि कई हजार साल पहले चीन और भारत के बीच व्यापार और जन संपर्क शुरू हुआ था ,जिसने रेशम मार्ग बनने के लिए बड़ा योगदान दिया ।चीनी वरिष्ठ भिक्षु ह्वेन सांग रेशम मार्ग से भारत पहुंचे और वहां से बड़ी संख्या में बौद्ध सूत्र वापस लाए । ह्वेनसांग ने अपनी यात्रा के आधार पर एक पुस्तक लिखी ,जो अब तक भारत के इतिहास के अध्ययन और पुरात्तव शास्त्र में अहम भूमिका निभाती है ।

चीन से आये बौद्ध जगत के प्रतिनिधियों ने कहा कि बौद्ध धर्म चीन भारत सांस्कृतिक आदान प्रदान का महत्वपूर्ण सेतु है। गुरु ह्वेनसांग चीन भारत मैत्री के हजार वर्षों से बेजोड़ शांतिदूत हैं ।

पश्चिम बंगाल के आपदा प्रबंधन मंत्री जावेद अहमद खान ने कहा कि बौद्ध धर्म का दोनों देशों में व्यापक प्रभाव है ,जो दो पक्षों की मैत्रीपूर्ण आवाजाही में अहम भूमिका निभा सकता है।(वेइतुंग)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी