सुरक्षा परिषद में रूस के नर्व गैस के इस्तेमाल को लेकर मतभेद

2018-03-15 16:32:03

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने 14 मार्च को आपात बैठक बुलाकर हाल में ब्रिटेन में हुई नर्व गैस का इस्तेमाल कर संबंधित लोगों को नुकसान पहुंचाने वाली घटना पर विचार विमर्श किया। ब्रिटेन और अमेरिका आदि देशों ने कहा कि रूस को ब्रिटेन में हुई इस घटना की जिम्मेदारी उठानी चाहिए, जबकि रूस ने कहा कि संबंधित आरोप निराधार हैं, जो अस्वीकार्य है।

गौरतलब है कि 66 वर्षीय पूर्व रूसी जासूस और उनकी बेटी युलिआ स्क्रिपल 4 मार्च को ब्रिटेन की सड़क की एक बेंच पर बेहोश पाये गये। तीन दिन के बाद ब्रिटिश पुलिस ने पुष्टि की कि दोनों नर्व गैस के हमले के शिकार बने। ब्रिटिश सरकार ने कहा कि रूस ने संभवतः इस घटना को अंजाम दिया था और रासायनिक हथियार निषेध संधि के मुताबिक इस घटना की जांच करने की मांग की। अमेरिका, फ्रांस, हॉलैंड और स्वीडन आदि पश्चिमी देशों के प्रतिनिधियों ने ब्रिटेन का समर्थन किया। संयुक्त राष्ट्र संघ स्थित रूसी स्थायी प्रतिनिधि ने कहा कि ब्रिटेन का आरोप बिलकुल अस्वीकार्य है। उन्होंने संबंधित पक्षों से सबूत देने की मांग की। उन्होंने कहा कि रूस के खिलाफ कुछ देशों के आरोप का मकसद रूस के मुंह पर कालिख लगाना है।

उधर, संयुक्त राष्ट्र संघ स्थित चीनी प्रतिनिधि मा चाओश्वू ने कहा कि चीन आशा करता है कि तथ्यों के आधार पर संबंधित अंतर्राष्ट्रीय नियमों के मुताबिक उक्त घटना की न्यायपूर्ण जांच की जाएगी। आशा है कि संबंधित विभिन्न पक्ष उचित माध्यमों से इस समस्या का अच्छी तरह निपटारा करेंगे।

(श्याओयांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी