13वीं एनपीसी के पहले पूर्णाधिवेशन में चुने गए चीन के नये नेता

2018-03-17 15:03:04

13वीं एनपीसी के पहले पूर्णाधिवेशन ने 17 मार्च की सुबह शी चिनफिंग को चीन लोक गणराज्य का राष्ट्रपति और केंद्रीय सैन्य आयोग का अध्यक्ष चुना गया।

साथ ही पूर्णाधिवेशन में ली चानशू को 13वीं एनपीसी की स्थाई समिति का अध्यक्ष चुना गया, और वांग छीशान को चीन का उप राष्ट्रपति चुना गया।

सुबह नौ बजे 13वीं एनपीसी के पहले पूर्णाधिवेशन का पांचवां पूर्णाधिवेशन जन वृहत भवन में आयोजित हुआ। शी चिनफिंग, ली खछ्यांग, ली चानशू, वांग यांग, वांग हूनिंग, चाओ लोची व हान चेन आदि इसमें उपस्थित हुए हैं।

पूर्णाधिवेशन में मौजूद प्रतिनिधियों की संख्या 2980 होनी चाहिये, वास्तव में उपस्थित प्रतिनिधियों की संख्या 2970 है। केवल दस कम थी। उपस्थितों की संख्या कोरम से मेल खाती है।

पूर्णाधिवेशन में सबसे पहले 13वीं एनपीसी के पहले पूर्णाधिवेशन के राज्य परिषद के संस्थागत सुधार का प्रस्ताव पारित किया गया। पूर्णाधिवेशन की मांग के अनुसार राज्य परिषद को सीपीसी की केंद्रीय कमेटी के नेतृत्व पर कायम रहकर राज्य परिषद के संस्थागत सुधार को अच्छी तरह से करने को सुनिश्चित करने की जरूरत होगी।

9 बजकर 41 मिनट पर मतदान शुरू हुआ। मत-गणना के परिणाम के मुताबिक चीन के राष्ट्रपति व केंद्रीय सैन्य आयोग के अध्यक्ष के चुनाव में शी चिनफिंग ने सभी 2970 वोट हासिल किये। जब शी चिनफिंग चीन लोक गणराज्य के राष्ट्रपति व केंद्रीय सैन्य आयोग के अध्यक्ष बनने की घोषणा की गयी, तो सभी प्रतिनिधियों ने खड़े होकर जोर से तालियां बजायीं।

पांचवें पूर्णाधिवेशन के बाद संवैधानिक शपथ समारोह आयोजित की गयी। संवैधानिक शपथ व्यवस्था लागू होने के बाद चीनी नेता ने पहली बार एनपीसी में संवैधानिक शपथ ली। शी चिनफिंग ने कहा कि मैं शपथ लेता हूं कि चीन लोक गणराज्य के संविधान के प्रति वफादार रहूंगा, संविधान की रक्षा करता रहूंगा, अपने कानूनी कर्तव्य का पालन करूंगा। अपने देश व जनता के प्रति वफादार रहूंगा। मैं अपना कर्तव्य ईमानदारी से निभाऊंगा। जनता की निगरानी को स्वीकार करूंगा। और समृद्ध, लोकतांत्रिक, सभ्य, सामंजस्यपूर्ण व सुंदर समाजवादी आधुनिक शक्तिशाली देश के निर्माण के लिये पूरी कोशिश करता रहूंगा।

चंद्रिमा

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी