चीन-अमेरिका व्यापार टकराव में अमेरिकी किसान सबसे बड़ा शिकार बनेगा :अमेरिकी कृषि संगठन

2018-04-04 11:05:03

हाल ही में अमेरिकी एनजीओ मुक्त व्यापार के लिए किसान ने टीवी में अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनाल्ड ट्रम्प को इस बात की याद दिलाने के लिये दो विज्ञापन दिये कि अमेरिका और चीन के बीच व्यापारिक टकराव से अमेरिकी किसानों को भारी नुकसान पहुंचेगा।

चीन अमेरिका से आयातित सोयाबीन उत्पादों का सबसे बड़ा बाज़ार है। वर्ष 2017 चीन ने अमेरिका से लगभग 14 अरब अमेरिकी डॉलर के सोयाबीन उत्पादों का आयात किया था।

चीनी राज्य परिषद के सीमा शुल्क पद्धति कमीशन (टीसीएससी) ने तय किया कि 2 अप्रैल से अमेरिका से आयातित 128 उत्पादों पर 15 प्रतिशत या 25 प्रतिशत शुल्क लगाया गया है। हालांकि इन 128 उत्पादों में सोयाबीन समेत फ़सल शामिल नहीं है। लेकिन सोयाबीन उगाने वाले अमेरिकी किसानों को चिंता सता रही है कि अगर अमेरिका-चीन व्यापार टकराव बढ़ेगा, तो अमेरिका के सोयाबीन निर्यात पर इसका बुरा असर होगा। अगले दो सप्ताह में वॉशिंगटन और फ्लोरिडा के लोग अमेरिका के कुछ मुख्य समाचार टेलीविजनों पर इस विज्ञापन देख सकेंगे।

पता चला है कि इसके पहले मुक्त व्यापार के लिए किसान संगठन ने एक समान विज्ञापन दिया था। दोनों विज्ञापनों में अमेरिकी किसानों ने अमेरिकी व्यापार नीतियों पर अपनी चिंता प्रकट की।

मुक्त व्यापार के लिए किसान के संयुक्त अध्यक्ष और मोन्टाना के पूर्व सीनेटर मैक्स बेकस ने कहा कि अमेरिका के कदम का जवाब देने के लिये चीन अमेरिका से आयातित फल और स्पार्कलिंग वाइन समेत 128 उत्पादों पर उच्च शुल्क लगाया जाएगा। भविष्य में और ज्यादा अमेरिका में कृषि उत्पाद इस बात की प्रभाव में आएंगे। इस व्यापार युद्ध में अमेरिकी किसान सबसे भारी कीमत चुकाएंगे।

(हैया)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी