ट्रंप की दंडयुक्त टैरिफ अमेरिका के हितों को नुकसान पहुंचाएगी

2018-04-04 18:32:00

पेइचिंग समयानुसार 4 अप्रैल की सुबह अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि कार्यालय ने अपनी वेबसाइट पर एक प्रस्तावित सूची जारी की, जिसमें चीन से आयातित लगभग 1300 वस्तुओं पर भविष्य में 25 प्रतिशत टैरिफ़ बढ़ाने की संभावना जताई गयी है। जिन का कुल मूल्य 50 अरब अमेरिकी डॉलर तक पहुंचेगा।

अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि के अनुसार यह सूची चीन के निर्यातकों को भारी दुःख देगी, और अमेरिका के स्थानीय निर्माताओं के हितों की रक्षा कर सकेगी। लेकिन लोग सूची के विषय पढ़कर ऐसा महसूस करते हैं कि अमेरिका की कार्रवाई न सिर्फ़ चीन को नुकसान पहुंचाएगी, बल्कि अमेरिका को भी हानि पहुंचाएगी।

इस सूची में शामिल पहले कई मालों में थोरियम मिश्र धातु, खारिज यूरेनियम मिश्र धातु, उच्च तापमान सिरेमिक आदि माल वास्तव में अमेरिका को नहीं बेचना चाहिये। क्योंकि चीन के विकास के साथ ऐसे मालों की ज़रूरत भी बढ़ रही है। इसलिये ऐसे मालों की निर्यात कम करना चीन के लिये एक बुरी बात नहीं है।

इस्पात व एल्यूमीनियम उत्पादों के पक्ष में चीन अमेरिका के प्रति बड़ा निर्यातक देश नहीं है। इसलिये अगर ट्रंप सरकार अपने देश के धातुकर्म उद्योग की रक्षा करना चाहती है, तो केवल चीन पर प्रतिबंध लगाने से काफ़ी नहीं है। उधर अमेरिका के बड़े निर्यातक देशों के प्रति ट्रंप सरकार तरह तरह की मुफ्त टैरिफ दे रही है। जिस का उद्देश्य बहुत स्पष्ट है कि अमेरिका साथियों को लेकर चीन के खिलाफ़ व्यापार युद्ध करना चाहता है।

चंद्रिमा

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी