चीन के प्रति अमेरिका की 301 जांच की कानूनी आधार में शक

2018-04-06 17:03:10

अमेरिका के चीन-अमेरिका अध्ययन केंद्र के प्रसिद्ध विद्वान सौरभ गुप्ता ने 5 अप्रैल को इन्टरव्यू देते हुए कहा कि अमेरिका के व्यापार प्रतिनिधि कार्यालय द्वारा चीन के प्रति की गयी 301 जांच में बौद्धिक संपदा अधिकार आदि क्षेत्रों में चीन पर आरोप लगाये गये। इस कार्रवाई का कोई कानूनी व वास्तविक आधार नहीं है।

गुप्ता ने कहा कि हाल के कई वर्षों में अमेरिका ने बौद्धिक संपदा अधिकार पर चीन की खूब आलोचना की। लेकिन उसने एक अहम मसले की उपेक्षा की है कि क्या चीन के बौद्धिक संपदा अधिकार से जुड़े नीति-नियमों ने अंतर्राष्ट्रीय कानून का उल्लंघन किया है?खास तौर पर विश्व व्यापार संगठन के ढांचे में व्यापार से जुड़े बौद्धिक संपदा अधिकार का प्रस्ताव।

गुप्ता के अनुसार अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि कार्यालय हर साल 301 जांच रिपोर्ट जारी कर चीन पर खास ध्यान देता है। अगर चीन स्पष्ट रूप से बौद्धिक संपदा अधिकार में अंतर्राष्ट्रीय कानून का उल्लंघन करता है, तो यह कार्यालय ज़रूर विश्व व्यापार संगठन के सामने चीन के खिलाफ़ मामला दर्ज करेगा। लेकिन 12 वर्षों में विश्व व्यापार संगठन में अमेरिका ने चीन के प्रति 22 मामले दर्ज किये हैं। लेकिन इनमें कोई मामला नहीं है, जो बौद्धिक संपदा अधिकार से जुड़ा हुआ है। क्योंकि अमेरिका इस बात की पुष्टि नहीं कर सकता कि चीन ने बौद्धिक संपदा अधिकार पर विश्व व्यापार संगठन के संबंधित नियमों का उल्लंघन किया।

चंद्रिमा

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी