सृजनात्मक उपलब्धियों की प्राप्ति चीनियों की मेहनत को जाता है- चीनी अधिकारी

2018-04-09 11:34:24

अमेरिका ने नम्बर 301 जांच रिपोर्ट जारी कर बौद्धिक संपदा अधिकार के क्षेत्र में चीन को बदनाम किया। चीनी राष्ट्रीय बौद्धिक संपदा अधिकार ब्यूरो के अधिकारी ने 8 अप्रैल को चाईना रेडियो इन्टरनेशनल को दिए एक खास इन्टरव्यू में कहा कि चीन के नवाचार में प्राप्त उपलब्धियां चीनियों की मेहनत को जाता है, न कि चुराने से आता है और न ही लूटमार करने से। बौद्धिक संपदा अधिकार के क्षेत्र में चीन के पास किसी भी चुनौतियों का मुकाबला करने का विश्वास भी है और क्षमता भी है।

चीनी राष्ट्रीय बौद्धिक संपदा अधिकार के संरक्षण और समन्वयन विभाग के प्रधान चांग ज़ीछंग ने कहा कि अमेरिका द्वारा जारी नम्बर 301 जांच रिपोर्ट में तकनीकी स्थानांतरण, बौद्धिक संपदा अधिकार और नवाचार क्षेत्र में चीन पर लगाए गए आरोप बिल्कुल निराधार है। वास्तव में विनिर्माण उद्योग क्षेत्र में चीन के तकनीकी स्तर की उन्नति और अंतरराष्ट्रीय स्पर्द्धा शक्ति की मज़बूती मुख्य तौर पर नवाचार में निवेश को बढ़ावा और विनिर्माण उद्योग में बहुमुखी स्पर्द्धा की श्रेष्ठता पर निर्भर करती है, नवाचार क्षेत्र में उपलब्धियों की प्राप्ति चुराने से नहीं आती और न ही लूटमार करने से। चीनियों का परिश्रम और मेहनत से आती है। बौद्धिक संपदा अधिकार के क्षेत्र में चीन के पास किसी भी चुनौतियों का मुकाबला करने का विश्वास भी है और क्षमता भी है।

गौरतलब है कि इधर के सालों में चीनी बौद्धिक संपदा अधिकार की बहुमुखी शक्ति तेज़ी से बढ़ रही है। यह सर्वमान्य बात भी है। साल 2016 में चीन विश्व भर में पहला देश बन गया है, जो साल भर में पेटेंट मांगने की मात्रा 10 लाख से अधिक हुई। विश्व बौद्धिक संपदा अधिकार संगठन के महानिदेशक फ्रांसिस गुर्री के विचार में चीन प्रमुख तकनीकी उपयोगकर्ता से तकनीकी उत्पादक देश में परिवर्तित हो चुका है।

चीनी राष्ट्रीय बौद्धिक संपदा अधिकार ब्यूरो के संबंधित जांच के अनुसार, 2017 में अमेरिका ने चीन से 23679 मामलों के पेंटेंट अधिकार प्राप्त किए, जो कि विश्व में दूसरा स्थान पर रहा। अमेरिकी कंपनी क्वालकॉम साल 2017 में चीन की तुलना में सबसे अधिक पेंटेंट अधिकार प्राप्त करने वाली विदेशी कंपनी थी।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी