2018 बोआओ एशिया मंच में आर्थिक मुद्दों पर चर्चा

2018-04-09 19:02:26

2018 बाओओ एशिया मंच चीन के हेनान के बाओओ में आयोजित रहा है। एशिया दुनिया में आर्थिक विकास गति सबसे तेजी से बढ़ता क्षेत्र है। इस मंच में चीन ने खुलेपन के नये पहल की घोषणा की। अंतर्राष्ट्रीय समुदाय इस पहल पर ध्यान देता है। अधिक देसी-विदशी विशेषज्ञों और विद्वानों ने 9 अप्रैल को यह बात कही।

बाओओ एशिया मंच के एशियाई आर्थिक पूर्वानुमान उप-मंच में चीन के केंद्रीय बैंक यानी पीपल्स बैंक ऑफ चाइना के पूर्व प्रमुख डाई शियांगलोंग ने कहा कि अगले 20 वर्ष में एशिया दुनिया के आर्थिक विकास गति में सबसे तेज क्षेत्र बना रहेगा।

उन्होंने कहा क्योंकि चीन का विकास काफी शक्तिशाली है, जबकि भारत की विकास वृद्धि गति काफी तेज है। चीन-जापान-दक्षिण कोरिया और आसियान देशों के बीच सहयोग आगे और अधिक मजबूत होगा। “एक पट्टी एक मार्ग”के विकास से एशिया नया अवसर प्राप्त कर सकेगा।

चीनी अर्थव्यवस्था का भविष्य के बारे में उन्होंने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में चीनी आर्थिक विकास गति में गिरावट आई है। यह चीन में आर्थिक मंदी के बजाय आर्थिक विकास रणनीति में स्वाभाविक और उपयोगी फेरबदल करने की अभिव्यक्ति है। भविष्य में चीनी आर्थिक विकास गुणवत्ता पर ध्यान देगा।

भारत के वाणिज्य और उद्योग भारतीय सदन महासंघ (फिक्की) के महासचिव संजय बारू ने कहा कि अगर आयात और विदेशों में निवेश के विस्तार क्षेत्रों में चीन और महत्वपूर्ण भूमिका निभाए, तो यह चीन और विकासशील देशों के लिये एक अच्छी बात होगी।

विशेषज्ञों और विद्वानों ने चीन-अमेरिका व्यापार विवाद समेत एशिया में आर्थिक विकास की अनिश्चितताओं पर विचार विमर्श किया। चीनी राष्ट्रीय आर्थिक अनुसंधान संस्थान के प्रमुख फ़ान गांग ने कहा कि चीन और अमेरिका के बीच व्यापार विवाद से सारे दुनिया में व्यापार श्रृंखला प्रभाव में आएगी।(हैया)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी